Sunday, April 21, 2024
HomeHindi"मगर, लोकतंत्र खतरे में है"

“मगर, लोकतंत्र खतरे में है”

Also Read

“Democracy is in danger”, “There is Growing Intolerance”, “Emergency is back”, Bharat tere tukde honge” etc. are favorite slogans used by pseudo-seculars, left-libtards, so called intellectuals and some politicians.

Irony is that this loud, chest thumping cabal goes all places shouting these slogans, uses the choicest expletives for the prime minister, openly backs terrorists but still claims that their “Freedom of Expression is curbed” and “Democracy is in Danger.”

I believe eventually people will see through their double standards and will decide what’s best for them.

Our generations need to be given history lessons on the emergency imposed in 1975. Only then the gen next will understand what “Democracy is in Danger” means.

MY TAKE (POEM) ON PSEUDO-SECULAR, LEFT-LIBERAL AND SO CALLED INTELLECTUAL CABAL

“मगर, लोकतंत्र खतरे में है”

साठ बरस शाही परिवार
नित्य चलाता था सरकार
अब जनमत जीत उनको चित करना
एक गरीब, पिछड़े के बस में है,
मगर, लोकतंत्र खतरे में है।

हो भारत के टुकडे इंशाअल्ला
गुरु अफजल तो बुरहान लल्ला
याकुब पे विवाद, भगवा है आतंकवाद
इनके षडयंत्र रचे हर पथ में है,
मगर, लोकतंत्र खतरे में है।

देश की बर्बादी तक रहेगी जंग
वंदे मातरम् से एकता होगी भंग
योग तोड़े तानाबाना, पर गौमाँस है खाना
जो कहे वो बुद्धिजीवी वर्ग में है,
मगर, लोकतंत्र खतरे में है।

पत्थरबाजो को मानवाधिकार
और सेना को निरंतर धिक्कार
बटला की शहादत झुटी, पर इशरत बेटी
कितने छलछंद इनके मन में है,
मगर, लोकतंत्र खतरे में है।

नीच, चाय बेच, तू हिमालय जा
मनोरोगी, डरपोक, हड्डीया गला
देश के प्रधान को नितदिन कहना भी
आजाद अभिव्यक्ति के हक में है,
मगर, लोकतंत्र खतरे में है।

विकास, सुनिति पर करे मजाक
पर ना रोकना चाहे तीन तलाक
जातिवाद की निति, भ्रष्टाचार ही रिति
तुष्टीकरण इनके नस नस में है,
मगर, लोकतंत्र खतरे में है।

चाहे जितना करो झूठ प्रसार
करती जनता भी सोच विचार
नीयत किसकी सच्ची, कहाँ बुद्धि कच्ची
ये निर्णय जनता के वश में है,
यहाँ, लोकतंत्र हर कतरे में हेै।

– दर्शन

  Support Us  

OpIndia is not rich like the mainstream media. Even a small contribution by you will help us keep running. Consider making a voluntary payment.

Trending now

- Advertisement -

Latest News

Recently Popular