Monday, August 15, 2022

Featuredarticles

5 August 2019, क्यों इतना महत्वपूर्ण है ये दिन, आखिर क्या हुआ कैसे हुआ किसने किया?

4 अगस्त 2019 का दिन था, पार्लियामेंट्री काम्प्लेक्स में जबरदस्त हलचल थी, गृह मंत्री ने एक Confidential और High-level की मीटिंग बुलाई थी, जिसमे NSA अजीत डोभाल, होम सेक्रेट्री, RAW और IB के चीफ को बुलाया गया था.

Some lives matter, some Don’t

Remember, no one took the rising extremism seriously enough in the 80s and then "The Kashmiri Pandit Genocide" took place. Let's not make more Kashmirs, and hope lives of people can be better all across, despite religion, despite creed, ethnicity or class.

Ravivarma Kulashekara: The scion of Dharma in God’s own country

This brave son of Bhārat will be remembered in the pages of Hindu history for generations to come.

Latest articles

Hindiहिन्दी में
ऑपइंडिया के लिए आपके लिखे लेख

संजय राउत को ED ने हिरासत में लिया, घर के बाहर भारी संख्या में समर्थक जमा, नारेबाजी जारी

शिवसेना सांसद संजय राउत को ED ने हिरासत में लिया है. मुंबई में उनके घर पर सुबह सात बजे से ही छापेमारी चल रही थी. प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने राउत को ED ऑफिस चलने के लिए कहा था. लेकिन उन्होंने इससे इनकार कर दिया था. यह छापेमारी पात्रा चॉल घोटाले से जुडे़ मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में हुई.

पुस्तक समीक्षा: “राष्ट्रवाद की गंगा”

श्वेता सिंह और सुयश सिंह की पुस्तक राष्ट्रवाद की गंगा इन दिनों चर्चा में है। पुस्तक में दोनों लेखकों ने मनीषियों और राष्ट्रवाद पर प्रकाश डाला है.

भारत में पनपती तालिबानी मानसिकता

राजस्थान के उदयपुर और महाराष्ट्र के अमरावती में हुई बर्बर हत्या ने साबित कर दिया हैं कि सिर तन से जुदा की सनक वाले देश में जिहाद करने के लिए बेख़ौफ़ बेलगाम होते जा रहे हैं.

अनाथ, अबला, बेसहारा मोहम्मद जुबेर को आखिर मिला हर आंतकवादी के पक्ष में लड़ने वाली वकील वृंदा ग्रोवर का, मिली जमानत

मोहम्मद जुबेर जो खुद को पत्रकार मानने से इनकार कर रहा था आज मिलोर्ड ने जबरदस्ती का ठुसकर पत्रकार बनाकर जिम्मेदारी के साथ कहा कि आखिर पत्रकार को भला थोड़े ही ट्वीट करने या गंदगी करने से रोक सकते है?

आखिर कौन है फैक्ट चेकर जुबेर? कुछ सवाल जो आपके दिमाग में आ रहे होंगे

आखिर क्यों गिरफ्तारी के बाद लगातार जुबेर अपनी शक्ल को छुपा रहा था अपना चेहरा नही दिखा रहा था क्योंकि जब ये मामला अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर तुल पकड़ा तो उसकी पहचान सामने आ जाएगी, और फिर आपके मन में तुरंत ख्याल आएगा कि जिस प्रकार से पिछले कई सालों से फैक्ट चेक के नाम पर कौमवादी हिंसा फैलाने की फिराक में था और लगातार हिंदू मुस्लिम करके केवल देश में अस्थिरता पैदा करने का प्रयासरत था।

क्या शिवलिंग की इस महिमा से आप परिचित है? जानने योग्य तथ्य…

भारत का रेडियो एक्टिविटी मैप उठाएं, हैरान रह जाएंगे आप! भारत सरकार की परमाणु भट्टी के बिना सभी ज्योतिर्लिंग स्थलों में सर्वाधिक विकिरण पाया जाता है। शिवलिंग और कुछ नहीं परमाणु भट्टे हैं, इसीलिए उन पर जल चढ़ाया जाता है, ताकि वे शांत रहें।

All Articles