Friday, June 25, 2021

Opinions

राष्ट्रीय-जीवन में छत्रपति शिवाजी का ऐतिहासिक अवदान

23 जून, हिंदू साम्राज्य-दिनोत्सव (शिवाजी का राज्याभिषेक) पर

Ladakh buildup – India’s Bhishma stands her ground eye to eye against Chinese tanks

China can not withdraw all her army to put up a challenge to India. The most aggressive posturing that China can engage in is by deploying forty percent of her total men and machine against India.

Faith & patience: Our strongest weapons to win this civilisational war

It is a battle between unequals, but history has shown that size, strength etc, are not at all guarantees for a victory & more often than than not, pride & ego leads to the downfall of the mightiest of mighty

A report on growing apostasy in Muslim world

According to the survey, conflicts between Islam and human rights, Islam and science, logical and scriptural contradictions and conception of god in Islam seem to be main reasons of their apostasy.

The plight of newly arrived: Interns struggling in unsecured and unsafe working environment for their career

In the light of movement like #MeToo in the legal fraternity, now it's time to institutionalize internship mechanism and provide a safe and healthy working environment to law interns with surety of their safety and security.

Normalcy vs complacency- A choice or a risk

One's complacency is what shall decide one's own safety and well being and that of one's family and peers

17 वीं लोकसभा के दो साल में इतना काम, मनमोहन सरकार सोच भी नहीं पाई

17वीं लोकसभा के दो वर्ष पूरे होने पर जब लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने अपने प्रगति रिपोर्ट जारी की, तो आंकड़े सामने आए, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी के दूसरे कार्यकाल के दौरान भारत की संसद को दुनिया के संसदीय विश्व में एक अलग स्थान दिलाते हैं।

राम द्रोही राम के किस काम के

राममंदिर के लिए पिछले सदियों से चल रहा संघर्ष भव्य राम मंदिर के रूप में भारत के सामने प्रकट होगा। चाहे कितने ही असुर, राक्षस और दुष्ट प्रवृति के लोग राम काज में अड़ंगा लगाएं, भारत के इतिहास पुरुष मर्यादा पुरुषोत्तम का स्थान अयोध्या में पूरी भव्यता के साथ बनेगा।

इक्कीसवीं सदी योग-आयुर्वेद एवं भारतीय ज्ञान-विचार-परंपरा की सदी

इक्कीसवीं सदी भारतीय ज्ञान-विज्ञान-विचार-परंपरा की सदी है। कम-से कम 21 जून को मनाया जाने वाला अंतरराष्ट्रीय योग-दिवस और उसे मिलने वाला विश्व-बिरादरी का व्यापक जन-समर्थन यही संकेत और संदेश देता है।

पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद की हिंसा: कारण और निवारण

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की जीत के बाद हुई हिंसा राजनीतिक नहीं है, उसके पीछे वहाँ की जनसांख्यिकीय स्थिति मुख्य कारक है।

Latest News

Recently Popular