Tag Archives: Pseudo Secularism

उत्तर प्रदेश पुलिस और कमलेश तिवारी

कमलेश तिवारी की हत्या युपी पुलिस की साफ़ नाकामयाबी और ‘समुदाय विशेष’ के लोगों की तरफ लिबरलिज़म है।

Advertisements

सेकुलरिज्म या दिखावा, धर्म के नाम पर व्यक्तिगत आजादी का हनन क्यों?

सेकुलरिज्म की आड़ में अपने अजेंडे सेट करने वालों के लिये यही सवाल खड़ा होता है कि क्या अब सभी को एक दूसरे के धार्मिक त्योहारों पर बधाई देना, उनकी ख़ुशी में शामिल होना, उनमे भाग लेना बंद कर देना चाहिए?

मैं और तथाकथित सेकुलरिज्म

मोदी हेटिंग में इतने अंधे हो चुके हैं की ना अपना भला दिख रहा है ना देश का. और अगर ये इनका सेकुलरिज्म है, तो ये सेक्युलरसिम इन्हे मुबारक.

हिंदुत्व भावनाओं का अधिपतन -क्या यह प्रारब्ध है या निजकर्म

हज़ारो वर्षो से वैदिक सभ्यता,भारतीयता का जो उपहास व निम्नस्तरीयता का जो भाव विदेशी आक्रांताओ द्धारा प्रचलित रहा है वो आज भी जीवित है, तर्क, आलोचना, टिप्पड़ियाँ, कुंठा से ना हमारा भूतकाल पुनः राम राज्य बन जायेगा ना ही हम भारतियों की व्यथा को शांत कर पायेगा।

Let’s talk #Core

It can just not be ignored by the BJP that after singing ‘vikaas, vikaas aur sirf vikaas’ tune for 4.5 years, Modi and BJP had to pull out the ‘Mandir Wahin Banayenge’ and ‘Jai Shri Ram’ tunes right ahead of elections.

Secular India

In a so-called flawless system, there are some flaws in this system, so let’s talk about those little problems which easily can be removed if and IF government wishes.

The opinions expressed within articles on "My Voice" are the personal opinions of respective authors. OpIndia.com is not responsible for the accuracy, completeness, suitability, or validity of any information or argument put forward in the articles. All information is provided on an as-is basis. OpIndia.com does not assume any responsibility or liability for the same.