Friday, June 14, 2024
HomeHindiजेहादी हमले से भी ज्यादा खतरनाक हैं बौद्धिक वैचारिक आतंकवाद

जेहादी हमले से भी ज्यादा खतरनाक हैं बौद्धिक वैचारिक आतंकवाद

Also Read

देश में हुये आतंकी हमले को अभी तीन दिन भी नहीं गुजरे हैं कि मुख्य धारा मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक वैचारिक  आतंकवाद अपनी चरम सीमा पर हैं हमले के तुरंत बाद तथाकथित बुद्धिजीवियों ने सोशल मीडिया में ऐसा बहुत कुछ लिखा  जिसे यह स्पष्ट हैं कि वह हमले पर जश्न मना रहे हैं। NDTV की डिप्टी एडिटर निधि सेठी ने अपनी फेसबुक पोस्ट पर  लिखा कि “काल्पनिक 56 पर 44 भारी पड़ गए”। वहीं कुछ कश्मीरी युवाओं, नेताओं ने देश के खिलाफ और हमले के समर्थन में सोशल मीडिया में जहर उगला। इसके बाद राष्ट्रवादियो ने मोर्चा संभालते हुए फेसबुक से लेकर ट्विटर पर इनके खिलाफ  लिखना शुरू किया नतीजा यह हुआ कि सोनी ने नवजोत सिंह सिद्धू को कपिल शर्मा शो से बाहर निकाल दिया तथा NDTV  ने दिखावे के लिए निधि को निष्कासित नहीं निलंबित कर दिया। वही कई संगठनों और शिक्षक संस्थानों ने अपने यहां से ऐसे लोगों को निष्कासित कर दिया।

हमारे मीडीया के पत्रकार- आतंकियों पर फक्र महसूस करते हुए
NDTV का माफ़ी-नामा

लेकिन इनकी नीचता अभी कम नहीं हुई थी आज सोशल मीडिया में यह एक पुराना ट्वीट वायरल हो रहा हैं जिसमें लिखा हैं  कि कुछ महीनों में मोदी जनता के बीच ज्यादा हँसेगा और रोयेगा, भारत कोई बड़े दंगे या सीमा पर तनाव के लिए तैयार रहे। इस शक्स ने हमले के बाद तुरन्त ट्वीट करते हुआ लिखा कि ज्यादातर शहादत देने वाले दलित और मुस्लिम हैं.

भविष्य बताता हुआ ट्वीट
ओछेपन की चरम-सीमा

यह वहीं नस्ल के कीड़े है जब कश्मीर से हिन्दुओ को बाहर निकाला गया था तोह तब इन लोगो ने कहा था कि यह उस समय के गवर्नर जगमोहन ने भारत सरकार के इशारे पर कश्मीर में हिन्दुओ से घर खाली करवाये। यह किसी पार्टी के खिलाफ नहीं बल्कि भारत के खिलाफ प्रोपागेंडा करने में माहिर हैं जो आज यह कह रहे हैं कि मोदी ने चुनाव को देखते हुए हमला करवाया हैं यह पाकिस्तान को बल दे रहे हैं उसे कभी गलत नहीं कहेंगे बल्कि जेहाद को उचित ठहराते हुये प्रोपागेंडा फैलायेंगे कि कशमीर में भारत की आर्मी कश्मीरियो  पर जुर्म दाह रही हैं। पिछले महीने कि बात है NIA ने “हरकत उल हर्ब ऐ इस्लाम” के बहुत बड़े मोडयूएल का भंडाफोड़ किया. दिल्ली समेत एनसीआर में रेड मारी और 10 लोगो को गिरफ्तार किया. फिर पूरा गिरोह NIA का मजाक उड़ाते हुये उतर आया इन आतंकियों के समर्थन में और तर्क देने लगा कि इनके पास सुतली बम ही तोह था. जब कि 25 किलो विस्फोटक पदार्थ 13 पिस्टल आदि समान बरामद हुआ था.

देश के डिफेन्स का मज़ाक बनाने से नहीं कतराते ये लोग
असलियत!

देश को पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक करने से पहले अंदरूनी सर्जरी की जरूरत हैं जिससे इन जैसो का इलाज हो सके।

  Support Us  

OpIndia is not rich like the mainstream media. Even a small contribution by you will help us keep running. Consider making a voluntary payment.

Trending now

- Advertisement -

Latest News

Recently Popular