Thursday, May 30, 2024

TOPIC

minority appeasement is Indian Secularism

God save the Hindus: The need for a constitutional amendment

Hijab supporters have taken their grievance out of the courtroom, and it has now become a multi-pronged battle for the protection of religious rights of minorities.

What harm ‘secular’ & ‘minority’ have done to India

The word ‘minority’ has also created a lot of problems in India. If India is a secular and democratic country and has to treat all its citizens equally, then where from the issue of minority comes?

धर्मनिरपेक्षता की लक्ष्मण रेखा

धर्मनिरपेक्षता और तुष्टीकरण पर्यायार्थी शब्द नही है।

इच्छाधारी हिन्दू और डरे हुए “वो” समझ लें हिन्दू क्या है और हिंदुत्व क्या है

जब तक हम "ईश्वर अल्लाह तेरो नाम" के प्रपंच में उलझे रहे तब तक इन्हें कोई परेशानी नहीं थी। जब तक हम अस्तित्वहीन "गंगा जमुनी तहजीब" पर अकारण भरोसा करते रहे, तब तक इन्हें कोई दिक्कत नहीं थी।

धर्म नाशक धर्मनिरपेक्षता हिंदुओं के अंत के लिए

जिस देश में धर्म का ही शासन है जिस देश की संस्कृति में धर्म को ही संसार का शासक बताया गया है उसी देश को धर्मनिरपेक्ष कह कह कर इस देश को बर्बाद कर दिया गया है। यह तथाकथित व्यवस्थाएं हमारे अंत के लिए हैं और हमें इन व्यवस्थाओं को मिटाना है।

Dharmic concept of “SARV DHARM SAMBHAAV”, rather than the western concept of secularism, might hold the keys to a peaceful future for humanity

It would be an infinitely better world if religious leaders across different faiths muster the courage of conviction to reform

क्या मनोज मुंतशिर की कविता बता रही है कौन है मुगलों का असली हमदर्द?

मनोज मुंतशिर जी की कविता की निगाहें तो शायद आतंकी मुगलों पर थी परंतु ना जाने क्यों निशाना तथाकथित सेक्युलर प्रजातियों पर लग गया।

Video press meet between Taliban Chief & Lutyens media stooges

Satire: The peace-loving Taliban gives an awesome interview to Indian journalists for being truly secular.

A commonsensical Pproposition: Ought true Hindus to pledge fidelity to Hindutva?

The Hindutva groundswell we behold today was perhaps fated to sweep Bhāratavarsha, and it shall hold sway for long.

बनते रहो चारा, निभाते रहो भाई चारा

राजनैतिक दलों ने सत्ता प्राप्ति के लिए सार्थक काम करने के स्थान पर मुस्लिम तुष्टिकरण को बढ़ावा दिया क्योंकि वो चुनाव जीतने का आसान रास्ता था।

Latest News

Recently Popular