Thursday, October 21, 2021

TOPIC

minority appeasement is Indian Secularism

Dharmic concept of “SARV DHARM SAMBHAAV”, rather than the western concept of secularism, might hold the keys to a peaceful future for humanity

It would be an infinitely better world if religious leaders across different faiths muster the courage of conviction to reform

क्या मनोज मुंतशिर की कविता बता रही है कौन है मुगलों का असली हमदर्द?

मनोज मुंतशिर जी की कविता की निगाहें तो शायद आतंकी मुगलों पर थी परंतु ना जाने क्यों निशाना तथाकथित सेक्युलर प्रजातियों पर लग गया।

Video press meet between Taliban Chief & Lutyens media stooges

Satire: The peace-loving Taliban gives an awesome interview to Indian journalists for being truly secular.

A commonsensical Pproposition: Ought true Hindus to pledge fidelity to Hindutva?

The Hindutva groundswell we behold today was perhaps fated to sweep Bhāratavarsha, and it shall hold sway for long.

बनते रहो चारा, निभाते रहो भाई चारा

राजनैतिक दलों ने सत्ता प्राप्ति के लिए सार्थक काम करने के स्थान पर मुस्लिम तुष्टिकरण को बढ़ावा दिया क्योंकि वो चुनाव जीतने का आसान रास्ता था।

Riot and intelligentsia of India

The response to a riot is messed up in our country. The Indic Wing have a bigger responsibility.

कोरोना वैक्सीन और सेकुलर मित्र

इस्लाम नहीं मानता कि पृथ्वी गोल है और सूर्य के चक्कर काटती है। किसी ने क्या कर लिया उनका, और क्या बिगड़ गया उनका ऐसा मानने से? पाकिस्तान में दोनों तरह की साइन्स पढ़ाई जाती है: पृथ्वी के गोल और सूर्य के चारो ओर घूमने वाली भी, और उसके चपटी और स्थिर होने वाली भी, जिसको जो मानना हो, माने। यह होता है असली लोकतन्त्र!

Why India has communal problem

Nehru and Congress could neither save non-Muslims of Pakistan & Bangladesh, nor could Indianise the descendants of Indian Muslim Leaguers. With development of leftist, liberal and secular Indian Hindus, who have been supporting Islamist cause, the situation has turned for the worse now.

How Congress-Islamist honeymoon in India backfired

Secularism, pluralism and inclusiveness have been anti-thesis of Islam since 1400 years. In India, Islamists cry overtly for Secularism, pluralism and inclusiveness only because of their numerical weakness. They neither believe nor practice those.

तुष्टिकरण की राजनीति से मुक्ति की और असम

असम सरकार ने हाल ही में घोषणा की है कि अगले माह यानी नवंबर में वो राज्य में राज्य संचालित सभी मदरसों और संस्कृत टोल्स या संस्कृत केंद्रों को बंद करने संबंधी एक अधिसूचना लाने जा रही है।

Latest News

Recently Popular