Wednesday, January 26, 2022
HomeHindiटेरर का जवाब योगी आदित्यनाथ

टेरर का जवाब योगी आदित्यनाथ

Also Read

उत्तर प्रदेश में माफियाओं और अपराधियों पर योगी आदित्यनाथ कहर बन कर बरस रही है, 2017 से पहले जो माफिया सरकार की ही संरक्षण में रहते थे तो वही माफिया अब योगी राज में खुद जेल की ओर जाते नजर आ रहे है। 2017 के बाद योगी आदित्यनाथ की सरकार बनते ही माफियाओं और अपराधियों में डर का माहौल है।

एक के बाद एक माफियाओं की संपत्ति जब्त कर बुलडोजर चलाने का कार्य योगी सरकार कर रही है। कभी पुलिस प्रशासन को आँख दिखाने वाले माफियाओं, अपराधियों पर उत्तर प्रदेश पुलिस कहर बनकर बरस रही है अतीक अहमद, मुख्तार अंसारी ही नही बल्कि प्रदेश के 2 दर्जनों से अधिक बड़े बड़े माफियाओं पर शिकंजा कर उनके नेटवर्क को ध्वस्त किया गया।

कानून व्यवस्था को मजबूती देने के लिए प्रदेश में पूरी पारदर्शिता के साथ पुलिसकर्मियों की नियुक्ति‍ के साथ ही सभी 1535 थानों में महिला हेल्प डेस्क और 213 नए थानों का निर्माण हुआ। लखनऊ, नोएडा, वाराणसी, कानपुर में पुलिस कमिश्नर सिस्टम को लागू किया। एंटी भूमाफिया टास्क फोर्स का गठन कर आरोपियों पर कार्रवाई की। साथ ही प्रदेश में महिला सशक्तिकरण के लिए मिशन शक्ति अभियान चला रही योगी सरकार ने महिलाओं से जुड़े अपराधों पर तुरन्त कार्यवाही कर एक रिकार्ड बनाया है।

योगी आदित्यनाथ सरकार के 4 वर्ष से अधिक कार्यकाल में गेंगस्टर अधिनियम के तहत 15 अरब 74 करोड़ से अधिक की अवैध संपत्ति जब्त की गई।

विकास दुबे सहित लगातार उत्तर प्रदेश में बड़े एनकाउंटर हुए जिससे अपराधियों और माफियाओं में ख़ौफ़ का माहौल है।
जो उतर प्रदेश पहले गुंडागर्दी औऱ माफियाओं के अत्याचार से जाना जाता था वही उत्तर प्रदेश अब उत्तम प्रदेश बनता जा रहा है।

कानून व्यवस्था में भी 2017 के बाद बड़े बदलाव देखने को मिले, योगी आदित्यनाथ ने हमेशा बोल्ड फैसले लिए जिसे जनता और बड़े नेताओं ने भी पसंद किया।

अपने बोल्ड फैसलों के लिए भी जाने जाते है योगी आदित्यनाथ

योगी के बुलडोजर की शुरुआत कैसे हुई
कानपुर के चौबेपुर के बिकरु में सीओ समेत आठ पुलिस कर्मियों की हत्या के बाद मुख्य आरोपी विकास दूबे की संपत्ति पर बुलडोजर चलाया गया।
योगी सरकार का बुलडोजर 25 माफियाओं पर चल चुका है इसमें मुख्तार अंसारी,अतीक अहमद, बब्लू श्रीवास्तव, मोहम्मद सलीम, मोहम्मद सोहराब, मो.रुस्तम, ब्रजेश कुमार सिंह, सुभाष सिंह ठाकुर, मुनीर, खान मुबारक, आकाश जाट, अमित कसाना, उधम सिंह, योगेश भदौड़ा, उमेश राय, त्रिभुवन सिंह, सुशील उर्फ मूंछ, अजीत, संजीव माहेश्वरी, सुंदर भाटी, ध्रुव कुमार सिंह और अनिल भाटी की संपत्ति पर भी बुलडोजर चला।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रयागराज में बाहुबली माफिया और पूर्व सांसद अतीक अहमद के कब्जे से मुक्त सरकारी जमीन पर भूमि पूजन करके आवासीय योजना की आधारशिला रखी। आवासीय योजना के तहत करीब 75 फ्लैट का निर्माण होगा. ये फ्लैट गरीबों को बेहद ही सस्ते दामों में उपलब्ध कराए जाएंगे।

माफियाओं की संपत्ति जब्त कर उन्हें गरीबों में बाट कर सुशासन का मैसेज दे रही है योगी सरकार

इत्र कारोबारी के पास से मिली संपत्ति की जाँच अभी चल रही है। अपराधियों और माफियाओं में ख़ौफ़ ही ये साबित करता है कि टेरर का जवाब योगी आदित्यनाथ।

  Support Us  

OpIndia is not rich like the mainstream media. Even a small contribution by you will help us keep running. Consider making a voluntary payment.

Trending now

- Advertisement -

Latest News

Recently Popular