Thursday, October 21, 2021

TOPIC

Yogi Adityanath

लखीमपुर कांड ने लगाई विपक्षी भूमिकाओं पर प्रश्नचिन्ह

अगर उत्तर प्रदेश को दिल्ली समझने वाले यह सोचते है की इस तरह के कांडो से UP का Voter दहल जाएगा तो वह भुल गए हैं की यह वह राज्य है जहां के परिक्वता की मिसाले दी जाती है।

पहले ‘अब्बाजान’ कहने वाले राशन हजम कर जाते थे, अब सबको मिल रहा है

कुशीनगर में योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा की "कांग्रेस देश में आतंकवाद की जननी है। देश को जख्म देने वाले लोगों को बर्दाश्त करने की आवश्यकता नहीं है। भारतीय जनता पार्टी है तो सभी का सम्मान है, आस्था का सम्मान है।"

असुरक्षित दिल्ली और सरकार का रिसता इकबाल

क्या ये तथाकथित आंदोलनकारी इतने फौलादी हो गए हैं कि इनसे निपटने के लिए आपके तरकश में कोई तीर नहीं है। क्या मौलवी इतने ताकतवर हो गए हैं कि किसी भी फ्लाईओवर पर मजारों के नाम पर सरकारी जमीनों पर कब्जा कर लें।

UP Scholarship 2021-22: Online apply, last date, application status

उत्तर प्रदेश सरकार प्रतेक वर्ग के छात्रों के लिए प्रकार की छात्रवृति योजना चला रही है. यदि आपने पहले से छात्रवृति योजना के लिए आवेदन किया है तो आप ऑनलाइन up scholarship status चेक कर सकते है.

हिंदूओं के वीर संगठनों की धार कुंद कैसे हुई?

क्यों राजनैतिक नेतृत्व इन अराष्ट्रीय गतिविधियों के प्रति घोर उदासीन बना हुआ है। उसकी क्या सियासी मजबूरियां हैं। क्या वह जानबूझकर इन घटनाओं को अनदेखा कर रहा है? क्या हिंदू समाज को कमजोर करने में ही उसे अपनी सियासत नजर आ रही है?

बिजनौर: छह साल बाद भी नहीं बना गंगा पर पुल

हांलाकि भाजपा सरकार के दौरान पुल का निर्माण काफी तेजी से किया गया, लेकिन निर्धारित अवधि पूर्ण होने के चार वर्ष बाद भी लोगों को पुल की सुविधा का अभी भी इंतजार है।

शाकुम्भरी सिद्ध पीठ के लिये फोर लेन बाईपास को योगी कैबिनेट की मंजूरी

2019 के लोकसभा चुनाव के प्रचार लिए सहारनपुर पहुंचे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शाकुम्भरी सिद्ध पीठ से ही चुनाव प्रचार का शंखनाद किया था।

समाजवाद और वर्ग संघर्ष

उत्तरप्रदेश में चुनावी माहौल गरमाया हुआ है, राष्ट्रवादी कही जाने वाली BJP और खुद को लोहिया और जयप्रकाश के समाजवाद का उत्तराधिकारी बताती सामजवादी पार्टी आमने सामने है.

टीवी पत्रकार अतुल अग्रवाल पर इतना बवाल क्यों मचा? जानिए मीडिया की दुनिया के परदे के पीछे का घिनौना सच?

टीवी पत्रकार अतुल अग्रवाल की लूट की पोस्ट की सच्चाई अब यूपी पुलिस ने सामने ला दी है। पुलिस ने पूरे मामले का गंभीरतापूर्वक संज्ञान लिया और पूरे मामले की जांच की, तो पाया कि अतुल अग्रवाल ने निजी कारणों के चलते लूट की घटना की झूठी कहानी रची थी।

BJP projects Yogi as the countdown for UP2022 begins

The question among voters, who put the equations of religion and caste above everything else, is whether the Hindu vote in UP will remain one-sided?

Latest News

Recently Popular