Tuesday, October 4, 2022
HomeHindiकोरोना महामारी के समय सुरक्षित खानपान कैसे करें

कोरोना महामारी के समय सुरक्षित खानपान कैसे करें

Also Read

Alok Mishra
Alok Mishra
Budding Writer; Communicating Science.

SARS-CoV-2, कोरोनावायरस परिवार का एक विषाणु है, जो कि आमतौर पर एक हल्की श्वसन सम्बन्धी बीमारी (कोविद-19) उत्पन्न करता है। किन्तु यह विषाणु अत्यधिक संक्रमणकारी होने के कारण पुरे विश्व में लाखों लोगों को प्रभावित कर चूका है और लगभग 35000 लोगों की जान ले चूका है। लोगों में संसय की स्थिति है कि क्या यह विषाणु भोजन और जल के द्वारा भी फ़ैल सकता है। जनता के बीच इस भ्रम को जागरूकता और सही जानकारी के प्रसार के साथ हल किया जाना चाहिए।

क्या भोजन और पानी से कोरोनावायरस फैलता है?

वर्तमान में इस बात का कोई सबूत नहीं है कि भोजन या जल प्रणालियां कोरोनावायरस के विकास और संचरण का समर्थन करती हैं। एक व्यक्ति इस वायरस को तभी प्राप्त कर सकता है, जब वह किसी ऐसी सतह या वस्तु के संपर्क में आए, जिस पर वायरस हो, तत्पश्चात संभवतः अपनी नाक, मुंह या आंखों को स्पर्श करे। हालांकि, इसे संक्रमण का मुख्य तरीका नहीं माना जा सकता है। अमेरिका के रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) के अनुसार,

“सतहों पर इन कोरोनावायरस की खराब उत्तरजीविता है, खाद्य उत्पादों या पैकेजिंग से फैलने का खतरा बहुत कम है “

संयुक्त राज्य – रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (US-CDC)

कौन से भोजन प्रभावित हो सकते हैं?

कोरोनावायरस एक जूनोटिक रोग अर्थात प्राणियों में फैलने वाला रोग है। यह वनस्पतियों को प्रभावित नहीं करता। अतः फल एवं सब्ज़ियां कोरोनावायरस के विकास का समर्थन नहीं करते। किन्तु, संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए हुए कच्चे फल, सब्ज़ी, निर्मित भोजन या अन्य खाद्य पदार्थ संक्रमण फैला सकते हैं। हालाँकि स्वच्छता और सफाई के सामान्य नियम का पालन कर इससे बचा जा सकता है।

क्या नॉन वेज से कोरोना फ़ैल सकता है?

नहीं। किसी भी प्रकार के नॉन-वेजीटेरियन खाद्य पदार्थ, चाहे वह मीट हो, पोल्ट्री हो या सी-फ़ूड हो, किसी में भी कोरोनावायरस के विकास के सबूत नहीं पाए गए हैं। भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (FSSAI), विश्व स्वस्थ्य संगठन (WHO) एवं संयुक्त राज्य खाद्य और औषधि प्रशासन (US-FDA) सभी ने इस बात की पुष्टि की है की ये सभी भोज्य पदार्थ पूरी तरह सुरक्षित हैं। किन्तु किसी भी प्रकार के मानव-जनित संक्रमण से बचने हेतु स्वच्छता और सफाई के सामान्य नियम का पालन करना अतिआवश्यक है।

सुरक्षित रूप से खरीदारी कैसे करें?

इन तरीकों के पालन से आप अपने भोजन सामग्री की सुक्षित खरीद कर सकते हैं:

  • बाहर जाते समय मास्क का इस्तेमाल करें।
  • सोशल डिस्टैन्सिंग का पालन करें।
  • उन फलों और सब्जियों का चयन करें जो चोटिल या क्षतिग्रस्त नहीं हैं।
  • फल और सब्जियों को कच्चे मांस, पोल्ट्री और समुद्री भोजन से अलग रखें।
  • दुकान से लौटने तथा खाद्य पदार्थ को पैकेजिंग से अलग निकालने के बाद अपने हाथ अवश्य धोएं।
  • पैसे की हैंडलिंग से बचना हेतु उपलब्ध संपर्क रहित डिजिटल भुगतान विकल्पों का प्रयोग करें।

खाद्य सुरक्षा के चार प्रमुख कदम

सफाई

खाने या खाना बनाने से पहले अपने हाथों को अच्छी तरह धोएं। फलों और सब्जियों को रगड़कर अच्छी तरह से चलते पानी के नीचे धोएं। साबुन, डिटर्जेंट, क्लोरीन, या वाणिज्यिक रसायन (डेटोल, सेवलॉन आदि) का फल और सब्जियों के धोने के में बिलकुल भी उपयोग न करें। यह पूर्णतयः निषेध है। धोने के बाद साफ कपड़े या कागज के तौलिया से सुखाना चाहिए, जिससे विषाणु या अन्य रोगजनक जीव का भार काम हो सके। चॉपिंग बोर्ड, बर्तन और गैस स्टोव को साबुन और गर्म पानी से धोया जाना चाहिए। किचन की सतहों की अक्सर सफाई की जानी चाहिए। चम्मच, चिमटे, मसाला धारकों आदि को अक्सर धोया और साफ किया जाना चाहिए।

अलग करना

कच्चे मांस, पोल्ट्री, फल और सब्जियों को अन्य खाद्य पदार्थ और पके हुए खाने से अलग किया जाना चाहिए। सभी खाद्य पदार्थों के लिए अलग-अलग चॉपिंग बोर्ड, चाकू और बर्तनों का उपयोग करने की सलाह दी जाती है। आपस में क्रॉस-कंटैमिनेशन से नहीं होना चाहिए ।

पकाना

पिछले कोरोनावायरस की घटनाओं (मर्स और सार्स) से प्राप्त अनुभवों से पता चलता है कि खाना पकाने से वायरस को ख़त्म किया जा सकता है| (60°C पर 30 मिनट तक पकने से भोजन को सुरक्षित किआ जा सकता है। पके हुए भोजन की अधिकतम सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए प्रेशर कुकर में पकाना चाहिए। कच्चे दूध की अधिकतम सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सामान्य से अधिक समय (60°C 30 मिनट या 75 °C पर 10 मिनट ) तक गर्म करना चाहिए। पाश्चुरीकृत दूध को उपभोग से पहले उबाला जाना चाहिए। पैकेट फाड़ने से पहले बहते पानी में दूध के पैकेट को धो लेना चाहिए। एवं उसके बाद हाथ अछि तरह साबुन से धुलना चाहिए।

भण्डारण

भोजन तैयार होने के दो घंटे के भीतर खा लिया जाना चाहिए। यदि नहीं, तो इसे 5°C से नीचे रेफ्रिजरेट किया जाना चाहिए। इस तरह रेफ्रिजरेट किये गए खाद्य पदार्थों को खपत से पहले उचित ताप तक गर्म किया जाना चाहिए।

ध्यातव्य

  • खाद्य पदार्थों और पेय पदार्थों को साझा न करें।
  • अच्छी हैंडवाशिंग के लिए कम से कम 20 सेकंड तक अच्छा झाग बनाने के लिए पर्याप्त साबुन का उपयोग प्रयोग करें| हाथों के सभी हिस्सों को अच्छी तरह से रगड़ने के पश्चात चलते हुए पानी के नीचे पूरी तरह से धोना चाहिए। व्यक्तिगत तौलिया या डिस्पोजेबल पेपर तौलिए के उपयोग द्वारा अच्छी तरह से हाथ सुखाना चाहिए।
  • यदि हैंडवाशिंग का विकल्प सुलभ नहीं है, तो कम से कम 60% अल्कोहल वाले सैनिटाइजर का उपयोग किया जा सकता है। हालांकि, यह साबुन और पानी का रेप्लसेमनेट नहीं है।
  • बर्तन धोने वाले साबुन, लिक्विड  डिटर्जेंट  और डिशवॉशर डिटर्जेंट बर्तन से वायरस को निष्क्रिय करने की क्षमता रखते हैं।
  • धोने और किचन की सतह की सफाई के लिए गर्म पानी (60 डिग्री सेल्सियसया उससे अधिक) का करना बेहतर होगा।  
  • टच-पॉइंट्स जैसे ट्रॉलियों, कीपैड, डोर हैंडल आदि को बार-बार साफ किया जाना चाहिए।
  • यदि संभव हो तो टेकअवे और ऑनलाइन ऑर्डर से बचने के लिए घर पर ताजा पका हुआ भोजन तैयार करें।
  • टेकअवे और ऑनलाइन आर्डर के दौरान सोशल डिस्टैन्सिंग और सुरक्षा उपायों का पालन करें।

एक नागरिक के रूप में हमारा कर्तव्य है कि हम स्वयं सुरक्षित रहें और कोरोनावायरस के बारे में सही ज्ञान का प्रसार करके दूसरों को भी सुरक्षित रखने में राष्ट्र का सहयोग करें। कोविद-19 एक अत्यधिक संक्रामक रोग है और इसकी कोई दवा या वैक्सीन अभी तक निर्मित नहीं हो पायी है। इससे केवल अच्छी स्वच्छता और सफाई के नियमों का पालन करके ही लड़ा जा सकता है। हाथ धोना, आस-पास के वातावरण को साफ और कीटाणुरहित रखना, करीबी-संपर्क से बचना और बीमारी पर डॉक्टर से सलाह लेना ही खुद को एवं परिवार के सभी सदस्यों की सुरक्षा बनाए रखने का सबसे अच्छा तरीका है।

  Support Us  

OpIndia is not rich like the mainstream media. Even a small contribution by you will help us keep running. Consider making a voluntary payment.

Trending now

Alok Mishra
Alok Mishra
Budding Writer; Communicating Science.
- Advertisement -

Latest News

Recently Popular