Tuesday, April 16, 2024
HomeHindiमनीष सिसोदिया और मनोज तिवारी हमें माफ़ करें हमने शिक्षक बनने का पाप करा

मनीष सिसोदिया और मनोज तिवारी हमें माफ़ करें हमने शिक्षक बनने का पाप करा

Also Read

shokhanda
shokhanda
Primary Teacher working to bring about a revolution in life of poor children, Footballer, Biker, Wanderer and next goal is to join National Investigation Agency, India as Sub Inspector

दिल्ली सरकार में 17000 (2500 बिना CTET के) के करीब अतिथि शिक्षक 2012 और उससे पेहले से कार्य कर रहे हैl और उस समय  इनकी भर्ती बिना verification के प्रिंसिपल की मर्ज़ी पर होती थी ये बात भी किसी से छिपी नहींl और बहुत से योग्य शिक्षक विद्यालय में सीट होने के बाद भी कभी अतिथि शिक्षक नहीं बने और किसी private school में काम करने लगे पर शायद इन्हें उनके experience पर भरोसा नहीं है पर फिर भी सभी MLA, MP और मंत्रियो के बच्चे उन्ही private schools में पढ़ते हैl

और अगर स्थायी भर्ती की बात करे तो 2012 से 10000 से ज्यादा भर्ती कर चूका है, केंद्रीय विद्यालय में 3931 पदों पर भर्ती कर चूका है और 6139 पदों पर भर्ती का result कभी भी आ सकता हैl जो की अतिथि शिक्षको की संख्या से काफी ज्यादा है और अगर हरियाणा, राजस्थान व उत्तर प्रदेश की बात करे तो ये संख्या बहुत ज्यादा हो जाएगी, इन राज्यों की बात करना बहुत जरुरी है क्यूंकि हम सभी जानते है की अधिकतर अतिथि शिक्षक इन्ही राज्यों में से आते हैl अगर ये सभी कक्षा में ढंग से पढ़ाते और सच में इतने काबिल होते हो आज भी अतिथि शिक्षक नहीं होतेl इन सब के बाद भी उनके द्वारा सीधा स्थायी करने की जो मांग (जिसे पहले सिर्फ आम आदमी सरकार का समर्थन प्राप्त था अब मनोज तिवारी भी उसके समर्थन में कूद पड़े है) हास्यपद व नाजायज हैl

और इनकी ये मांग कोई पूरी नहीं कर सकता क्यूंकि SC ने उमा देवी वाले आदेश में साफ साफ कहा है की ये नहीं हो सकता, पर मनीष सिसोदिया ने विधान सभा में इसका भी तोड़ निकाल कर सबके सामने रख दिया और SC के आदेश को आधार मानते हुए हुए इन्हें अंको में छुट देने की बात बोली और एक प्रस्ताव भी पारित कर दियाl हम सभी जानते है की अगर ये फाइल अब LG के पास जाती है तो उसे पास होने से कोई रोक नहीं सकता(क्यूंकि अब इस को BJP का भी समर्थन है)l

https://youtu.be/doduQPeGewc

DSSSB 30 अगस्त से पहले दिल्ली HC में exam की date final कर दे देगा, पर चिंता इस बात की है कहीं दिल्ली सरकार बाद में LG के सहमती से अतिथि शिक्षको को अंको में छुट देने के लिए इन भर्तियों में संशोधन ला दे और इस बात की पूरी संभावना भी है और अगर किसी को लगता हो की ये नहीं हो सकता तो DSSSB की पिछली भर्तियों में संशोधनों देख सकता है नहीं तो SSC CHSL 2016 में DEO की भर्ती में हुए संशोधन देख सकता है जहाँ पर 12वी में science होना जरुरी करा था पेपर होने के बादl

अतिथि शिक्षक, सरकार और विपक्ष इन भारतियों के खिलाफ है और मनोज तिवारी ने तो हद ही पार कर दी है रोज एक नए विडियो बना रहे है   और MCD के commissioner को जल्द  से जल्द कोई समाधान खोजने का आदेश भी दे चूका है पर(उसका शिक्षक प्रेम कहा था जब MCD ने 2015 में मेरे जैसे 2000 से ज्यादा शिक्षक निकले थे) और जल्द ही LG से बात कर कोई न कोई ऐसा कार्य जरुर करेगा जिससे इन भर्तियों पर ग्रहण लग जाएगा

इस विडीओ पर DASS (दिलीप पांडेय द्वारा बनवाई गए आम आदमी पार्टी की GT Union) सबूत

एक अति महत्वपूर्ण सदस्य का जवाब भी देख ले

समय आ गया है की हम सभी इन दोनों पार्टियों की राजनीति को समझे और इनका विरोध करे, हमारे पास ये आखिरी मौका है क्यूंकि अगर  बाद में दिल्ली सरकार ने कोई संशोधन पारित कर दिया तो उसे रोकना मुश्किल होगा और पता नहीं कितने साल अदालतों के चक्कर काट ते रहेंगे 70/09 को ही देख लो बेचारे आज भी तारीख भुगत रहे है पर उनका कुछ हुआ नहीं हैl आप सभी से विनती है की कोई एक date फिक्स करो और बड़ी संख्या में LG, मनीष सिसोदिया और मनोज तिवारी को ज्ञापन दे कर आये ताकि उनको समझ आ सके की बीएड ded और CTET सिर्फ 14500 अतिथि शिक्षको ने ही नहीं किया है, दिल्ली के लाखों शिक्षको ने किया भी किया है और रोजगार उन्हें भी चाहिए घर उनके भी हैl

अभिमन्यु

PRT, CTET 2 times

GT 2012-13 1923011Dr. Ambedkar Nagar, Sector V-GBSSS (Shaheed Anushuya Prasad)

2013-15 North DMC Contract

  Support Us  

OpIndia is not rich like the mainstream media. Even a small contribution by you will help us keep running. Consider making a voluntary payment.

Trending now

shokhanda
shokhanda
Primary Teacher working to bring about a revolution in life of poor children, Footballer, Biker, Wanderer and next goal is to join National Investigation Agency, India as Sub Inspector
- Advertisement -

Latest News

Recently Popular