Monday, July 22, 2024

TOPIC

Insolvency and bankruptcy

Why the booming trend of banking scams never ends

The society expects transparency, reliability, accountability and effective discharge of duties and responsibilities by the banks. Depositors of a bank put their hard-earned salaries and life savings in the banks which should by protected before lending huge loans to fraudsters masquerading as borrowers.

भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता २०१६ (IBC) क्या है: पंचम भाग (Liquidation Process)

हम इस भाग में देखेंगे की परिसमापन (Liquidation) की प्रक्रिया कैसे होती है।

भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता २०१६ (IBC) क्या है: चतुर्थ् भाग (LIQUIDATOR)

भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता २०१६ (IBC) की धारा ३३ और इसके पश्चात की धाराओं में "परिसमापन" अर्थात लिक्विडेशन (LIQUIDATION) से सम्बंधित प्रावधानों को सूचीबद्ध किया गया है।

भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता २०१६ (IBC) क्या है: तृतीय भाग

इस भाग में हम ये देखेंगे की भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता २०१६ (IBC) के अंतर्गत प्रक्रिया होती कैसे है

भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता २०१६ (IBC) क्या है?: द्रितीय भाग

बड़े बड़े विषेशज्ञों से विचार विमर्श करने के पश्चात सभी इस निष्कर्ष पहुंचे कि यदि बैंको और अन्य वित्तीय संस्थानों में Non-Performing- Assets की संख्या पर नियंत्रण कर उसे निरंतर काम किया जाये तो बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के पास पैसा आएगा और जब इनके पास पर्याप्त मात्रा में पैसा आएगा तो युवाओं और अन्य नागरिकों को आसान ब्याज पर ऋण उपलब्ध होंगे।

भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता २०१६ (IBC) क्या है?: प्रथम भाग

वर्ष २०१६ में भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता को लागु करने की आवश्यकता क्यों पड़ी, आखिर इसकी आवश्यकता क्या थी? इस लेख के प्रथम भाग में हम संक्षिप्त रूप से इस विषय पर प्रकाश डालने का प्रयास करेंगे।

PMC Bank and the present status of operation and supervision of urban cooperative banks in India

PMC’s collapse is unlikely to impact financial markets or other private or public sector banks as co-operative banks have meagre dealings in money markets as they largely depend upon deposits.

Understanding deposit insurance in case of bank liquidation

There is a need to spread awareness among depositors community and the common public so that could secure the money to large extent.

जमाकर्ता जमा बीमा के अन्तर्गत प्राप्त सुविधा ज्यादा कैसे प्राप्त कर सकता है

आपको अधिकतम फायदा एक लाख तक ही है भले ही वहाँ पैसा इससे ज्यादा हो। लेकिन आप ज्यादा फायदा वैध तरीके से ले सकते हैं और उसके लिये आपको प्लानिंग करनी होगी,यही यहाँ उल्लेखित कर रहा हूँ ।

Take from current fall of Punjab Maharashtra Coop bank

In the recent case of PMC bank, only accountability is discussed and would be discussed for many months to come, however, there're some other more issues too which need to be looked upon.

Latest News

Recently Popular