Sunday, September 25, 2022

TOPIC

Bihar elections

बिहार चुनाव और महिलाएं

यह जानकारी उत्साह जनक है और उससे भी ऊपर यह सुखद है कि बिहार के राजनीति में लालू के जाति गोलबंदी और और तुष्टीकरण से ऊपर महिला विकास और सशक्तिकरण की एक स्वस्थ और बहुप्रतीक्षित विमर्श शुरू हुई जो अब तब बिहार के राजनीतिक पृष्टभूमि से नदारद थी!

Will “Trump Raj” in the U.S. and “Jungle Raj” in Bihar return?

The election battle grounds are heating up and are in the final stretches in Bihar and the U.S. with Modi playing role in both.

बिहार में का बा

ये एक ऐसा सवाल है जो चुनाव ख़त्म होने के बाद अगले पांच साल हम जरुर पूछते है पर जब वोट डालने का समय आता है तब हम बिहार को भूल कर जातिवाद जैसे विभाजनकारी मानसिकता को चुन लेते है। इस मानसिकता को बदले बिना हम बिहार के विकास की कल्पना भी नहीं कर सकते।

बिहार: कोरोना,बाढ़ और चुनाव

मौर्यकालीन बिहार जो उस समय देश का सबसे शक्तिशाली और समृद्ध क्षेत्र हुआ करता था, आचार्य चाणक्य ने कल्पना भी नहीं की होगी कि विदेशी आक्रांता और देशी राजनीति उनके बिहार को गरीबी, अशिक्षा, बीमारी, अपराध, भ्रष्टाचार और जातिवाद से इस तरह संक्रमित कर देगी।

मुरली मनोहर जोशीजी का लेख- नीतीश कुमार एनडीए में वापस क्यों लौटे?

मुरली मनोहर जोशीजी के दृष्टिकोण से भारतीय राजनीति पर एक व्यंग्यपूर्ण नज़रिया. A satirical look at Indian politics from Murli Manohar Joshi's perspective.

Nitish Kumar accession to throne: Opportunism or prudence

The present break in the alliance is the direct consequence of the accommodating politics adopted in Bihar.

Why politicians usually shy of talking about reservation

It is still to be known that how much the reservation has so far helped the communities like SC/ST in upbringing their life quality. But it is evident that it has helped politicians who stand on ideology that supports reservation.

BJP should declare Varun Gandhi as its CM candidate in Uttar Pradesh, here’s why

It is a wild thought, but it might not be a bad idea to project Varun Gandhi as BJP's CM candidate in UP elections.

Latest News

Recently Popular