Wednesday, February 1, 2023
HomeHindiफेसबुक में समानान्तर ब्रह्मांड के सबूत

फेसबुक में समानान्तर ब्रह्मांड के सबूत

Also Read

Shailendra Kumar
Shailendra Kumar
Technical Architect by Job. Nationalist and rationalist writer on the topics related to common man and India.

समानान्तर यूनिवर्स वो काल्पनिक सिद्धान्त है जिसके अनुसार अलग अलग आयामो में सहअस्तित्व वाले अलग अलग कई ब्रह्मांडो का अस्तित्व है। जिसके समुच्चय को multiverse बोला जाता है।

इस सिद्धान्त को कई बार लोगो ने बरमूडा त्रिभुज में रहस्यमयी घटनाओ में विमानों और जहाजो के गायब होने से भी जोड़ा है।

इस सिद्धान्त के अनुसार एक ब्रह्मांड से दूसरे ब्रह्मांड में जाना असम्भव है क्योंकि उस आयाम में जाने के लिए पदार्थ और मानव शरीर के परमाणुओं को तोड़कर फिर से नए आयाम के सिद्धांतों के अनुसार बनाना होगा, जिसमें आणविक संरचना की अव्यवस्था होगी और विभिन्न आयामो के मध्य सफल परिगमन असम्भव होगा।

हांलाकि वैज्ञानिक परीकथाओं में अक्सर विभिन्न आयामो के मध्य लोगो का , अंतरिक्ष यानों का सफल आवागमन होता रहता है। लेकिन यह तकनीक या तो सिर्फ अतिमानवों के पास होती है या परग्रही प्राणियों के पास।

फेसबुक में भी कई ब्रह्मांडो की खोज हो चुकी है जो कि विभिन्न आयामो के नियमो से बंधे हुए है। कुछ तमिल तेलगु मलयालम हिंदी उर्दू पंजाबी अंग्रेज़ी जैसी भाषाओं के नियमो से बंधे है तो कुछ आर्थिक सामाजिक शिक्षा धर्म के विभिन्न आयामो के नियमो में बंधे हुए है।

ज्यादातर पोस्ट,कमेंट,लाइक इत्यादि विभिन्न आयामो के नियमो की वजह से नही हो पाते है।

कुछ लोग भले ही अपनी अतिमानवीय शक्तियों और तकनीक का उपयोग करके विभिन्न आयामो में हो रही पोस्टो और संदेशों के आदान प्रदान को देखते रहते है, उनको मन ही मन पसन्द भी करते है लेकिन चाह कर भी वो लाइक शेयर कमेंट विभिन्न आयामो के कड़े नियमो से बंधे होने की वजह से नही कर पाते है।

अपने अंदर की अतिमानवीय शक्तियों को पहचाने। आप फेसबुक के समानान्तर ब्रह्मांडो के मध्य अपने विचारों का आदान प्रदान कर सकते है।

  Support Us  

OpIndia is not rich like the mainstream media. Even a small contribution by you will help us keep running. Consider making a voluntary payment.

Trending now

Shailendra Kumar
Shailendra Kumar
Technical Architect by Job. Nationalist and rationalist writer on the topics related to common man and India.
- Advertisement -

Latest News

Recently Popular