Tuesday, March 9, 2021
Home Hindi श्री अरविंद केजीरिवाल से १६ सवाल और एक विनम्र अपील देशवासियों से

श्री अरविंद केजीरिवाल से १६ सवाल और एक विनम्र अपील देशवासियों से

Also Read

Shailendra Kumar
Technical Architect by Job. Nationalist and rationalist writer on the topics related to common man and India.

1. सबसे पहला सवाल आपने किस मुस्लिम नेता के दवाब में मरकज  में 5000+ लोगो को आने दिया ?

2. महाराष्ट्र पहले ही मरकज की अनुमति रद्द कर चुका था क्या आपने दिल्ली में मरकज की अनुमति सिर्फ मुस्लिमो को ये दिखाने के लिए दी की “आप” और केजीरिवाल ही मुस्लिमो के मसीहा है? 

3. क्या आपने राष्ट्रीय राजनीति में अपना कद बढ़ाने के लिए मुस्लिमो के नेता बनने के लिए दिल्ली में मरकज की अनुमति दे कर, आपने अपने लाखों वोटरो को कोरोना की सौगात दे दी?

4. क्या आपके स्वास्थ्य मंत्रालय ने आपको नही बताया था की दिल्ली की सघन जनसंख्या में कम्युनिटी स्टेज आ जाएगी यदि मलेशिया, इंडोनेशिया पाकिस्तान, ईरान इराक के संक्रमित तब्लीघि जमातियों को 5000+ लोगो के बीच में घुसने दिया जाएगा?

5. क्या अरविंद केजीरिवाल की सरकार को सिर्फ मुस्लिमो ने वोट दिया था? दिल्ली के हिन्दुओ ने वोट नही दिया था?

6. क्या दिल्ली सरकार के सारे मुस्लिम MLA ने आपको सरकार गिराने की धमकी दे कर मरकज की अनुमति ली थी?

7. क्या अमानतुल्लाह खान ने आपको ब्लैकमेल किया था, मरकज की अनुमति के लिए?

8. क्या आप सिर्फ दिल्ली के मुस्लिमो के CM है? क्या आपको IIT में जानलेवा संक्रमण शब्द का मतलब नही बताया गया था?

9. क्या आपको IIT में ये नही समझाया गया था की 130 करोड़ एक बहुत बड़ी संख्या होती है?

10.  क्या आपको IIT इतना भी नही बताया था की 3000 लोगो को एक बिल्डिंग में isolate करना ज्यादा आसान है बनिस्पत 130 करोड़ लोगो को बिना काम धाम के घर 40 दिन तक बिठाना ज्यादा मुश्किल है? इतना तो हमारे पांडेय जी पान वाले भैया ही आपको बता देते! आपके Data Analytics वाले सलाहकारोंने आपको नहीं बताया कुछ?

11. आप जब 10 लाख लोगो को रोज़ खाना खिला सकते है तो मरकज के 3000 तबलिग़ियो को मरकज में रखने के इंतज़ाम क्यूँ नहीं किये गए?

12. मरकज के 3000 लोगो को आपने बाहर ही क्यों आने दिया? जिस मुस्लिम नेता के दवाब में आपने यह निर्णय लिया जनता को उसका नाम बताए!

13. आप गरीबो के आप मसीहा है लेकिन आपने सिर्फ दिल्ली ही नही देश के 175 जिलों के गरीबो को lockdown और कर्फ्यू में झोंक दिया.क्यों?

14. हिंदुस्तान अखबार की 19 अप्रैल की रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली के 191 कोरोना पॉजिटिव लोगो के संक्रमण का कोई कारण नही पता पड़ा है, क्या आप इसकी ज़िम्मेदारी लेंगे? कैसे निपटेंगे आप इस स्तर पर फैल चुके कोरोना से?

15. क्या केजीरिवाल को रोज़ TV और अखबार में विज्ञापन देकर पूरे देश और दिल्ली की जनता को ये नही बताना चाहिए की अब आप कोरोना भी दिल्ली NCR वालो को फ्री बाटेंगे?

16. 130 करोड़ लोगो को कोरोना के हवाले करने की मुर्खता के लिए जिम्मेदारी लेते हुए क्या आपको इस्तीफा नही देना चाहिए?

देश के सभी दलों के समर्थकों से एक अपील


केजीरिवाल इन सवालों के जवाब दे या न दे लेकिन दिल्ली की जनता को, देश की जनता को समझना चाहिए की फ्री का लालच, मुस्लिमो के मसीहा, गरीबो के मसीहा, आरक्षण के मसीहा बनने का लालच रखने वाले नेताओं को वोट दे कर आप खुद के जान माल को खतरे में डाल रहे है।

देश के सभी हिन्दू मुस्लिम नेताओं को कम से कम अब कोरोना के खतरे के समय में तुष्टीकरण छोड़कर, एक सुर में, सब सम्भावित संक्रमित और उनके साथ रहने वालो को तुरन्त सामने आ कर सहयोग करने की अपील करनी चाहिए! राजनीतिक दल के जमीन स्तर पर जुड़े हुए विशेषकर “आप” और कांग्रेस पार्टी के मुस्लिम कार्यकर्ता ज्यादा आसानी से, संक्रमित लोगों के साथ रहने वालो को समझा बुझा कर कोरोना से लड़ने के लिए प्रेरित कर सकते है। कांग्रेस, आप, TMC, AMIM, NCP पार्टीयो के नेता और कार्यकर्ता यदि जुट जाए और जमीन पर काम करे तो देश के सभी 130 करोड़ इस आपदा से अभी भी बच सकते है। 

विपक्षी दलों के समर्थक भी इस बात को समझे की कोरोना वायरस को नही पता है की कौन मोदी समर्थक है? कौन मोदी विरोधी? जल्दी से जल्दी इस बात को समझे!

इससे पहले की कोरोना के जिन्न को वापिस चिराग में घुसाना असम्भव हो जाए ;समझदार बने वरना इटली ,US दूर नही है!

  Support Us  

OpIndia is not rich like the mainstream media. Even a small contribution by you will help us keep running. Consider making a voluntary payment.

Trending now

Shailendra Kumar
Technical Architect by Job. Nationalist and rationalist writer on the topics related to common man and India.

Latest News

Recently Popular

गुप्त काल को स्वर्ण युग क्यों कहा जाता है

एक सफल शासन की नींव समुद्रगप्त ने अपने शासनकाल में ही रख दी थी इसीलिए गुप्त सम्राटों का शासन अत्यधिक सफल रहा। साम्राज्य की दृढ़ता शांति और नागरिकों की उन्नति इसके प्रमाण थे।

सामाजिक भेदभाव: कारण और निवारण

भारत में व्याप्त सामाजिक असामानता केवल एक वर्ग विशेष के साथ जिसे कि दलित कहा जाता है के साथ ही व्यापक रूप से प्रभावी है परंतु आर्थिक असमानता को केवल दलितों में ही व्याप्त नहीं माना जा सकता।

पोषण अभियान: सही पोषण – देश रोशन

भारत सरकार द्वारा कुपोषण को दूर करने के लिए जीवनचक्र एप्रोच अपनाकर चरणबद्ध ढंग से पोषण अभियान चलाया जा रहा है, भारत सरकार द्वारा...

वर्ण व्यवस्था और जाति व्यवस्था के मध्य अंतर और हमारे इतिहास के साथ किया गया खिलवाड़

वास्तव में सनातन में जिस वर्ण व्यवस्था की परिकल्पना की गई उसी वर्ण व्यवस्था को छिन्न भिन्न करके समाज में जाति व्यवस्था को स्थापित कर दिया गया। समस्या यह है कि आज वर्ण और जाति को एक समान माना जाता है जिससे समस्या लगातार बढ़ती जा रही है।

The story of Lord Jagannath and Krishna’s heart

But do we really know the significance of this temple and the story behind the incomplete idols of Lord Jagannath, Lord Balabhadra and Maa Shubhadra?