कैसे पाकिस्तान Information Warfare के जरिये भारत के खिलाफ झूठ खबरे फैला रहा है

अगर एक झूठ सौ बार बोलेंगे तो वो सच हो जाता है दुनिया की नजर में यही कहलता है Psychological युद्ध अगर आप इसकी गहराई में जाये तो इसमें 2 रास्ते आते है पहला वो जो हम एक दुसरे से सामने सामने बातें करते है और दुसरा ये है की हम Social मीडिया पर बातें करते है। Social मीडिया पर झूठ फैलाया जाये तो उस पर प्रतिबंध लगाना बहुत मुश्किल होता है इसी का फायदा पाकिस्तान आर्मी की एक विंग पिछले कई सालों से ISPR ले रही है।

ISPR का सिर्फ एक ही काम होता है बस Propoganda फैलाना जैसे की पाकिस्तान के द्वारा बलोच पाश्तून और मोहाजीर लोगो पर हो रहे जुल्म पर पर्दा डालना और इंडिया में पाकिस्तान का propoganda फैलाना। कई पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार ने भी बोला है ISPR के पास 22,000 से ज्यादा Fake Social Media Accounts है जो रात दिन झूठ फैलाते है। इंडिया ने बालाकोट पर Airstrike के बाद ISPR ने बडी चालकी से सच को झूठ में बदल दिया था ये पहला वक्त था जब भारत को ऐसे झूठ Propoganda का सामना करना पडा था।

ये दिनो बस यही फिर हो रहा है भारत के साथ, भारत सरकार ने संविधान के हिसाब से धारा 370 हटायी है और इसी से बौखलाए पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ 5 ऑगस्ट से पुरी ताकद से ISPR की Propoganda Machine को चालू किया है इसमें वो भारत और दुनिया में रह रहे लोगों में एक झूठ फैला रहा है काश्मीर को लेके।

हालाकी ये ISPR की प्रोपौगंडा मशीन भी अलग अलग स्तर पर झूठ और Misguided न्युज फैलाते है जो इनके पास के 22,000 fake account है उनसे। मै इसकी गहराई में जाके जांच की तो पता चला उन्होंने Fake Accounts को हँडल करने और इसका सही सटीक इस्टेमाल करने के लिये इनको कई ग्रुप्स मै बांटा गया है जैसे की #TeamInsaaf, #TeamIK (IK मतलब इम्रान खान), #Team_OfficialPakistan और #TeamPakZindabad ये सभी ISPR के निर्देश पर काम करते है।

#TeamInsaaf ग्रुप का फोकस काश्मीर और भारत में झूठ प्रचार करने का काम करता है। इस ग्रुप का अडमीन हेड पाकिस्तानी नागरिक Muneeb Janjua है ये भारत के खिलाफ दुष्पताचार करने मै माहीर है। ये खुद को PTI पार्टी का वर्कर मानता है। पाकिस्तान ने जिसकी सत्ता होती है वो और पाकिस्तान आर्मी दोनो एक साथ झूठ फैलाते है देखीये कैसे इनके ग्रुप्स पर Message आता है कब क्या ट्रेंड करना है भारत के खिलाफ।

जैसे आप यहा देख सकते हो #TeamInsaaf का Whats app group जिस पर वो तय किये वक्त पर ट्विटर पर ये स्पेसिफिक हॅशटॅग को ट्रेंड करने के लिये बोल रहे है।

मेरे आकलन से ये ग्रुप मै 5,000 Fake अकाउंट्स हो सकते है। मै जब इनके whatsapp ग्रुप मे लिंक से ऍड हुआ तो देखा की ये पहले कब क्या हॅशटॅग टॉपिक ट्रेंड करना है वो उनके whatsapp ग्रुप मै लिखते है और उसके बाद वो हॅशटॅग में कोनसे फोटो ग्राफिक्स इस्टेमाल करना है वो भी दिया जाता है।

दुसरा ग्रुप है #TeamIK
ये ग्रुप पाकिस्तान ISPR का सबसे शक्तिशाली ग्रुप माना जाता है ये ग्रुप में करीब 12,000 से ज्यादा fake अकाउंट की संभावना है. इस ग्रुप का हेड अडमीन Farhan k Virk है ये ISPR के कहने पर ट्विटर पर ट्रेंड हॅशटॅग करता है।

तीसरा ग्रुप है #Team_OfficialPakistan। ये टीम पाकिस्तान की सबसे बडी टीम है जो propoganda फैलाने में माहीर है।

इस ग्रुप का अडमीन हेड Mr Malik और एक आदमी है और इनके 2 और सब हेड है। ये खुद को 5th Generation ka Soldiers बोला है.

चौथी टीम है #TeamPakZindabad इसका भी यही काम है झूठ और propoganda फैलानाइन सभी ग्रुप का काम होता है की वो इंडिया के खिलाफ झूठ फैलाये इनके WhatsApp ग्रुप होते है जिनसे ये एक दुसरे से connect रहते है और जैसे ही ISPR से जो निर्देश आते है उनपर ये काम करते हैपाकिस्तान लगभग तूट ही चूका है ISPR पाक के पब्लिक पर Propoganda फैलाके बता रही है कुछ नही हो रहा है बुरा सब कुछ ठीक है।आजकाल पाकिस्तान के पाश्तून आझादी के लिये प्रदर्शन कर रहे हैं उनको दबाने के लिये पाकिस्तान यही इंफॉर्मशन Warfare का इस्तेमाल कर राहा है लोगो तक जो इंफॉर्मशन जानी चाहीये वो तो नही जा रही पर उसकी उलटी ISPR की Propoganda मशीन की इंफॉर्मशन जा रही है।

आखिर एक सवाल आता है पाकिस्तान कब तक ऐसे आवाज को दबाते रहेगा? कब तक वो खुद की अच्छी इमेज बनाते रहेगा? पाकिस्तान के सभी नागरिक को पता है ISPR के बारे में बहुत सारे वरिष्ठ पत्रकार पाकिस्तान के उनहो ने भी कडी प्रतिक्रीया दि है।

Advertisements
The opinions expressed within articles on "My Voice" are the personal opinions of respective authors. OpIndia.com is not responsible for the accuracy, completeness, suitability, or validity of any information or argument put forward in the articles. All information is provided on an as-is basis. OpIndia.com does not assume any responsibility or liability for the same.