Thursday, August 6, 2020

TOPIC

Sonia Gandhi looted India

लूट की दुकान: राजीव गाँधी फाउंडेशन

राजीव गाँधी फाउंडेशन की अध्यक्ष सोनिया गाँधी हैं और राहुल गाँधी, प्रियंका वाड्रा, चिदंबरम और मनमोहन सिंह इसके अन्य ट्रस्टी हैं. इस ट्रस्ट ने सभी नियमों कानूनों को ताक पर रखकर न सिर्फ विदेशी संस्थाओं से दान लिया है, बल्कि प्रधान मंत्री नेशनल रिलीफ फण्ड, केंद्र सरकार के मंत्रालयों और विभिन्न सरकारी कंपनियों से भी काफी मात्रा में दान लिया है.

हे कांग्रेस समर्थकों! अब भी समय है जागो और राष्ट्र के हित में विचार करो।

भाजपा, कांग्रेस, आप और बसपा ये सब बाद में हैं पहले ये सनातन हिन्दू धर्म है, इस भारतवर्ष का अस्तित्व है। इनकी रक्षा करने वाले का साथ दीजिए, इनके विकास की बात करने वाले का साथ दीजिए। जो पार्टी आज तक अपना अध्यक्ष नहीं बदल सकी वह भारतवर्ष के भाग्य को क्या बदल पाएगी और यह भी संभव है कि आने वाले समय में कांग्रेस का अस्तित्व ही न रहे।

क्या अलका लांबा सोनिया गांधी की नाजायज औलाद है?

रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी कांग्रेस अधक्षया सोनिया गांधी को टारगेट करने के बाद अलका लांबा अर्नब गोस्वामी को टारगेट करने के लिए सोनिया गांधी की कुछ ज्यादा चपुलुसी कर रहीं हैं। यहाँ तक वह अपनी ट्विटर अकाउंट डीपी में सोनिया गांधी की फाटो लगाई हुई है।

नाम में बहुत कुछ रखा है

नाम में ही तो सबकुछ रखा है नाम से ही संस्कृति की पहचान, समाज का संस्कार, इतिहास की प्राचीनता और देश की धरोहर की गहराई का पता चलता है ।

ईसाई मिशनरी षड्यंत्रों के जाल में

इस्लामिक कट्टरवाद भारत के लिए सीधा शत्रु है लेकिन ईसाई कट्टरवाद अदृश्य खतरा है जो कि भीतर ही भीतर हमें खोखला कर रहा है। हमें भूतकाल से सीखना होगा कि किस प्रकार रोमन सभ्यता और साम्राज्य का विनाश हुआ। कहीं ऐसा न हो कि हमें भी वही दिन देखने पड़ें!

Give up hatred jibe of the dynast; has Shakespeare referred Raghul Gandhi in his work?

Has Shakespeare refereed Raghul Gandhi in his work Merchant of Venice? It is stated that the Devil too would quote scripture for its purpose through the below versus!

‘Prince of Aragon disease’ of congress party

If the party continues to worship and venerate one family and without the family the party may perish, the party would soon end up as party of ‘gentlemen of leisure’.

Only wish of Sonia Gandhi

Instead of patriotism and nationalism, the party men largely express and exhibit Sonia-ism and dynasty-ism and that is why the party is degenerating day by day. 

Sonia Gandhi spreads blatantly false rumours, violates law

The whole media has let Sonia Gandhi go scot-free for her blatant lie, since a large section of it is an interested party in the conflict, wanting to spread false rumours to somehow defame the Modi Government and paint it as anti-Muslim

Adamant dynast who wants to remain ‘UN-TEACHABLE’, no amount of defeats is going to help Congress party

At national level, the congress party of the dynast must be defeated and at regional levels, many regional forces work against the ethos of one India and one cultural heritage called Hinduism.

Latest News

Ram Mandir: Why it’s not a Hindu-Muslim but Indians vs Invaders issue

Ram Mandir is an issue which has surrounded a billion strong nation from 30-years and has led to multiple Hindu-Muslim riots leaving hundreds of people dead of both religions and is why still not a Hindu-Muslim issue?

राम

करने जन जन का कल्याण, करने संतों का उद्धार, करने दुष्टों का संहार, भारत भू पर जन्मे राम।

राम-भक्त कारसेवकों को नमन

समय बलवान होता है, ये पता था मगर नियती (डेस्टिनी) उससे भी बड़ी होती है, ये आज पता चला और नियती उनका साथ देती है जो धर्म के तरफ खड़े होते हैं! अपने आराध्य के लिए अपना सर्वस्व निछiवर करने वाले सभी कार्यसेवकों को नमन!

Only Ram’s Bharat can de-radicalize Project Medina victims

Modern-day Bharat has to take a leaf out of the horrors, the middle-east has gone through and pre-empt the causes at the earliest. There is absolutely no scarcity like that of a desert here.

आज न सिर्फ उत्सव मानना है अपितु कार सेवकों के बलिदान को याद कर प्रपंचों से भी लड़ना है

आज न सिर्फ राम मंदिर की आधारशिला रखी जा रही है, बल्कि नए भारत निर्माण के संकल्प का वास्तविक आगाज भी हो रहा है। आज से हर राम भक्त दायित्व है कि अपने धर्म के विरुद्ध रचे जाने वाले प्रपंच और मिथ्या दुष्प्रचार का खंडन करे तथा अपने धर्म और कार सेवकों के बलिदान की शुचिता बनाए रखे।

Recently Popular

Curious case of Swastika

Swastika (स्वस्तिक) literally means ‘let there be good’ (su "good" and asti "let it be"), or simply ‘good it is’ implying total surrender to paramatma and acceptance of the fruits of karma.

National Education Policy 2020 envisions to revive the ancient Indian wisdom, philosophy, human ethics and value system

The NEP 2020 is indeed has the potential to make India – Atmanirbhar if implemented properly. It envisions to make India a knowledge driven society and become Vishwa Guru in the field of education.

Only Ram’s Bharat can de-radicalize Project Medina victims

Modern-day Bharat has to take a leaf out of the horrors, the middle-east has gone through and pre-empt the causes at the earliest. There is absolutely no scarcity like that of a desert here.

Ram Janmabhoomi: A tribute to the centuries old struggle

In 1574 the Vaishnav saint Tulsidas in his writing “Ramcharitmanas” and in 1598 Abu al-Fazal also in his third volume of Akbarnama mentioned the Lord Ram birthday festival in Ayodhya. They did not mention any existence of a mosque.

How did Buddha look upon as Rama and what Rama means to a Buddhist

How Buddhist texts mention Lord Rama of Hinduism.
Advertisements