Tuesday, June 25, 2024

TOPIC

Hindi language

Medium of instruction in Indian schools

Is English truly so superior that it should supplant local languages all across the world? Lets examine the reasons for and against English as a medium of education in greater depth.

The Row over Hindi being the National Language: Justified?

Home Minister Amit Shah’s statement to use Hindi instead of English for communication within India has sparked a row recently.

Hindi as a national language – Pioneering thoughts of Veer Savarkar

The article provides an overview of the contribution of Veer Savarkar towards promotion of Hindi as a national Language. Apart from my own thoughts , the article picks from the references provided in my writeup.

हिन्दी भाषियों में बढ़ती हीन भावना

यह जो हिन्दी मीडियम और अंग्रेजी मीडियम की दीवार है यहीं होती है ‘Inferiority Complex’ की शुरुआत। क्योंकि लोगों को लगता है कि अंग्रेजी भाषा में हिंदी, राजस्थानी, मराठी या किसी अन्य प्रदेश की भाषा से रोजगार की तुलना में अधिक अवसर हैं।

अतुलनीय है हिंदी भाषा फिर भी उपेक्षा क्यों

वर्ष 1949 में हिंदी को हमारे देश में सर्वोच्च दर्जा प्राप्त हुआ और तब से हिंदी को हमारी राष्ट्रभाषा माना जाता है, भले ही हिंदी को राष्ट्रभाषा का दर्जा दे दिया गया हो लेकिन आज भी वह अपने अस्तित्व को बनाए रखने के लिए संघर्ष कर रही है। इस संघर्ष पर विराम क्यों नहीं लग रहा?

Irony dies a painful death everytime you flunk in your mother tongue

Slogging to learn a second language when you are miserably poor at your first one, is not a good idea.

हिंदी की व्यथा..

हिंदी का खो गया अभिमान, भारत में अंग्रेजी है अब, पढ़े-लिखों की पहचान l बोलकर अंग्रेजी, होता है बड़ा गुमान, हिंदुस्तान में हिंदी, खो चुकी सम्मान l

सब याद रखा जाएगा

महामारी से बचने को, सरकार की सख्ती वाजिब थी, पांच बार नमाज़ और सुन्नत की, अजीब तुम्हारी एक ज़िद थी। तुम सोचते हो हम भूलेंगे, पर सोचो कैसे भूलेंगे? जिसने सबको बीमार किया, वो निजामुद्दीन कि मस्जिद थी। सब याद रखा जाएगा।

The Luddite argument of Southern States over Hindi Language

If the Centre’s introduction is political, Tamil Nadu’s resisting it is also political. As a matter of fact, the Tamil parties are playing politics of language chauvinism.

Language game

It must be kept in mind that every language is equal and as important as other. It is not only Tamil’s duty but also ours to preserve this ancient language.

Latest News

Recently Popular