Thursday, July 18, 2024

TOPIC

communism

From the pen of a liberal

I with my friends also very politely warned government If they will not take CAA back we will destroy this country and divide this in to small pieces.

Time to slay the Nepalese buff

Nepal has not just divorced India politically but has made India its enemy. The entwined relationship has been trampled for sovereignty which Nepal never had in the past and will not have in the future.

Countering emotivism in economics

All economies should focus on self-sufficiency where they can provide for all without any dependence on external sources. This change in priorities of the neoliberal order will remove all the internal fractures in it like poverty, over exploitation of the environments, unemployment, disease and other internal conflicts over scarce resources.

चाइना का कैसे बना विनिर्माण का केंद्र भाग 1

1950 में भारत और चीन की समान जीडीपी थी; आज चीन की जीडीपी भारत के तीन गुना से भी अधिक है ऐसा क्या हुआ की चाइना इतना तेजी दे ऊपर आया, सारी विश्व का विनिर्माण केंद्र बना गया जबकि भारत में मजदूरी उस वक़्त चाइना से सस्ता था।

The red fascist’s psyche and the future

Red fascists are zealots who are going to call anyone a bigot, the moment they get cornered for their pretzel logic. They have the same, if not more biases which they accuse the right wingers of.

Bed-venture circus: Separatists, fundamentalists & propagandists

Bed-Venture Circus: Christianity, Islam & Communism. Everybody wants a piece of Bharat and I am not going to let them have it. (by @ashachanta)

Kerala : The systematic disintegration of the Hindu heritage

Some forces are gradually and consistently trying to destroy the cultural and religious aspects of Hindus in Kerala since past many decades with different approaches.

साम्यवाद – लोकतंत्र और राष्ट्रीय अखंडता के लिए खतरा

साम्यवाद में प्रतिएक मानव को संदेह की दृष्टि से देखने की प्रवृत्ति के कारण राजकीय तंत्र (सरकारी अफसर, प्रशाशन, सेना) सकती से काम करे यह भी जरूरी हो गया जिस कारण इन्हें भी सरकारी जोर के अंतर गत कार्य करवाना जरूरी था।

लाल सलाम से लाल कोरोना तक! और कितनी जानें लोगे वामपंथियों?

तानाशाही व्यवस्था वाले चीन से यूँ तो ज़्यादा खबरें बाहर नहीं आतीं, परन्तु इस बार कुछ अंतर्राष्ट्रीय मीडिया में ये खबरें छपी है के कोरोना वायरस का निर्माण चीन की प्रयोगशालाओं में पूरी तरह एक ख़ास रणनीति के तहत किया गया था।

गमला कट्टरवाद का!

यदि किसी अवधारणा में ज़्यादा अतिवादिता हैं तो क्या वोह उस धारणना की विफ़लता नहीं है? कम से कम संचार की विफ़लता तो मान ही सकते है।

Latest News

Recently Popular