Saturday, June 15, 2024

TOPIC

Shivaji Maharaj

छत्रपति शिवाजी महाराज का हिंदवी स्वराज्य: गर्व से हिंदू

छत्रपति शिवाजी महाराज ने सभी बाधाओं के बावजूद, शक्तिशाली मुगलों के खिलाफ लड़ते हुए, दक्कन में हिंदू साम्राज्य की स्थापना की। उन्होंने जनता में गौरव और राष्ट्रीयता की भावना पैदा करके उन्हें मुगल शासक औरंगजेब के अत्याचार से लड़ने के लिए प्रेरित और एकजुट किया।

The Idea of Bhārata: The Mauryas and The Marathas

Bhārata has been blessed with many able and powerful rulers. Music, literature, and science were developed during their reign. The Mauryas and the Marathas stand out in particular, for these empires had a vision for India and the fortitude to bring that into actuality.

Social Darwinism v/s humanity: What must you choose?

Chhatrapati Shivaji Maharaj didn't choose to become 'being human' kind of human. He took his sword and quenched it's thirst by the blood of Islamists and hoisted the Jeet Ka Bhagwa.

राष्ट्रीय-जीवन में छत्रपति शिवाजी का ऐतिहासिक अवदान

23 जून, हिंदू साम्राज्य-दिनोत्सव (शिवाजी का राज्याभिषेक) पर

What’s the point of celebrating Shiv Jayanti?

Shiv Jayanti is not 19th February as the government wants us to observe, but Falgun Kr'shna 3 as the society wants to celebrate. And here is what difference it makes.

शिवाजी और उनका लोकाभिमुख शासन-तंत्र

शिवाजी महाराज की शासन-व्यवस्था लोकाभिमुख थी। वे एक निरंकुश शासक की बजाय लोककल्याणकारी शासक के रूप में हमारे सामने आते हैं। ए

समय एवं समाज की चेतना को झंकृत करने वाले- छत्रपति शिवाजी

शिवाजी का उदय केवल एक व्यक्ति का उदय मात्र नहीं था, बल्कि वह जातियों के उत्साह और पुरुषार्थ का उदय था, गौरव और स्वाभिमान का उदय था, स्वराज, सुराज, स्वधर्म व सुशासन का उदय था और इन सबसे अधिक वह आदर्श राजा के जीवंत और मूर्त्तिमान प्रेरणा-पुरुष का उदय था।

शिवाजी महाराज मतलब अदम्य साहस, महिला सम्मान और गुरिल्ला वारफेयर के उस्तादों के उस्ताद

छत्रपति शिवाजी महाराज अप्रतिम योद्धा, कुशल रणनीतिकार और सामाजिक रूप से वसुधैव कुटुंबकम के प्रणेता थे। उनकी महान सोच और उनकी दूरदृष्टि ने मराठा साम्राज्य की नींव डाली जिसने संख्या में कम होने के बाद भी दक्कन में निज़ाम और उत्तर में मुगलों को लालकिले ही हद तक सीमित कर दिया था।

Latest News

Recently Popular