Tuesday, April 23, 2024

TOPIC

Lakhimpur Kheri

किसान आंदोलन का उतरता आवरण

स्वतंत्रता के बाद भारत में इस प्रकार की स्थिति पहले कभी नहीं देखी गयी होगी, भारतीय राजनीति में सभी मर्यादाएं टूट रही हैं। सभी राजनैतिक दलों ने कानून की व्याख्या अपने हिसाब से तय कर ली है।

लखबीर की हत्या ने खड़े किए कई सवाल, क्या मिल पाएगा इंसाफ?

सिंघु बॉर्डर पर लखबीर सिंह की तालिबानी तरीके से की गई हत्या ने अब कई सवाल खड़े कर दिए हैं. पहला सवाल यह है कि आखिर भारत जैसे देश में भी क्या इस तरीके से किसी की हत्या की जा सकती है?

लखीमपुर कांड ने लगाई विपक्षी भूमिकाओं पर प्रश्नचिन्ह

अगर उत्तर प्रदेश को दिल्ली समझने वाले यह सोचते है की इस तरह के कांडो से UP का Voter दहल जाएगा तो वह भुल गए हैं की यह वह राज्य है जहां के परिक्वता की मिसाले दी जाती है।

लखीमपुर खीरी कांड: योगी ने विपक्ष को किया फेल

2022 के विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी के विरोध में बने माहौल को लपकने के लिए कांग्रेस, सपा, बसपा और आम आदमी पार्टी के नेताओं ने कोई कसर नहीं छोड़ी, दिल्ली ही नहीं, छत्तीसगढ़ और पंजाब से भी नेता लखीमपुर खीरी के लिए निकल पड़े।

लखीमपुर खीरी: उत्तर प्रदेश की घटना संयोग या एक और प्रयोग?

घटना वाले दिन से हि कांग्रेस के, आप के, सपा के और बसपा के तथा अन्य पार्टियों के तथाकथित नेता किस आधार पर देश के गृह राज्य मंत्री और ऊनके बेटे के ऊपर किसानों की हत्या का आरोप लगा रहे हैं। वो कौन से साक्ष्य हैं या साक्षीदार है जिनके आधार पर विपक्षी इतना छाती पीट पीट कर आशीष मिश्रा कि गिरफ्तारी कि बात कर रहे हैं, अब तक तो सबकुछ हवा में है।

Latest News

Recently Popular