Tuesday, October 20, 2020

TOPIC

Islamophobia

Certain traumas are beyond our imagination: Islamic practice of female genital mutilation is one of them!

In 2016, Dr Syedna Mufaddal Saifuddin came out in support of continuing Female Genital Mutilation within his community and upheld the practice as something that is beneficial for the body and soul.

93% Muslims view Hindus favourably, but only 65% Hindus view Muslims positively- writes ThePrint

The data above clearly shows how the growth rate of Muslim population is likely to be higher as compared to that of Hindus in India in the next 40 years.This is only possible if the Muslims are more comfortable and confident living in this country than their Hindu counterparts, that is opposite of Islamophobia; but the title of ThePrint’s article suggests otherwise.

I-mania: Islamophobia may be irrelevant hence, Islamomania is an apt one

Islamophobia is a mythical term coined by Islamists to jeopardise the sincere efforts of the sane world for combating the medieval and barbaric thoughts and deeds of the violent creed of propagators of Islam.

Appeal to the Head of States of OIC – Organisation of Islamic Cooperation for Reforms

It is time to prove to the world that Muslim majority countries can be as just and fair to all religions as any other nation states can possibly claim to be.

How to stop Islamophobia

Muslims need to understand that good changes can only come from inside the community.

लाला लाजपत राय व आंबेडकर का वो डर हिन्दुओं के लिए इस्लाम को लेकर, देश को पुनः खंडित करने का आभास दिला रही है

ये चिंतन करने का विषय है कि आग कहीं न कहीं जलती रहती है इसीलिए इस देश के इतने टुकड़े करने के बाद भी धर्म के आधार पर फिर से उसी मोड़ पर खड़े होकर धुआं निकलते हुए देखते रहते हैं।

Yes, I am Islamophobic!

Someday, I hope that a majority of my country see things the same way and has the courage to call a spade, a spade and do away with these shackles that the liberal elite have so cleverly blinded us with and call out any heinous crime in the name of religion.

लिंचिंग लिंचिंग में फरक..

लिंचिंग लिंचिंग में भी फरक होता है साहेब,, एक इन्टॉलरेंट लिंचिंग है, तो दूसरी केवल ग़लतफ़हमी.

हिन्दू प्रवासी कामगारों का सोशल मीडिया लिंचिंग

भारत के कुछ वैचारिक उन्मादी प्रवृत्ति के पत्रकारों द्वारा सोशल मीडिया में भारतीय हिन्दू प्रवासी कामगारों में भय पैदा करने में अपना कोई कसर नहीं छोड़ रहे है और साथ ही साथ बहुसंख्यक समुदाय को एक प्रकार की अघोषित रूप से चेतावनी भी दे रहे है कि बेटा कायदे में रहो हम तो 52 मुमालिक है।

Fake news in the time of Corona

'When you wrestle with a swine, the swine enjoys it and you are the one getting dirty', old social media jungle saying...

Latest News

शांत कश्मीर और चिदंबरम का 370 वाला तीर

डॉ. मनमोहन सिंह की सरकार के सबसे शक्तिशाली मंत्रियो में से एक चिदंबरम आज वही भाषा बोल रहे है जो पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र तथा अन्य अंतर्राष्ट्रीय मंचो पर बोलता आया है। चिदंबरम यही नहीं रुके उन्होंने अलगाववादियों को भी महत्व देने की बात कही है।

मिले न मिले हम- स्टारिंग चिराग पासवान

आज के परिपेक्ष्य में बिहार का चुनाव कई मायनो में अलग है। मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री पारम्परिक राजनीती वाली रणनीति का अनुसरण कर रहे है तो वही युवा चिराग और तेजस्वी विरासती जनाधार को नए भविष्य का सपना दिखने का प्रयास कर रहे है।

How BJP can win seats in Tamil Nadu and Kerala

It is time for BJP to eye on Tamil Nadu and Kerala. In Lok Sabha election 2024 BJP will win ±15 seats in TN and ±3 seats in Kerala.

Brace for ad Jihad

Delusionary fairy tale

Why this hullabaloo about shifting Bollywood?

Let the new film city emerge as the genuine centre for producing high quality films that are genuinely Indian and be helpful in building a strong value-based society.

Recently Popular

Jallikattu – the popular sentiment & ‘The Kiss of Judas Bull’ incident

A contrarian view on the issue being hotly debated.

सामाजिक भेदभाव: कारण और निवारण

भारत में व्याप्त सामाजिक असामानता केवल एक वर्ग विशेष के साथ जिसे कि दलित कहा जाता है के साथ ही व्यापक रूप से प्रभावी है परंतु आर्थिक असमानता को केवल दलितों में ही व्याप्त नहीं माना जा सकता।

How I was saved from Love Jihad

A personal experience of a liberal urban woman and her close brush with Islam.

Twitter wrongfully reports Jammu & Kashmir’s location again

In February of this year Twitter was accused of getting Jammu & Kashmir’s location wrong.

हिंदू धर्म की भावनाओं को ठेस पहुंचाना कहां तक उचित है??

विज्ञापन में दिखाए गए पात्रों के धर्म एक दूसरे से बदल दिए जाएं तो क्या देश में अभी शांति रहती। क्या तनिष्क के शोरूम सुरक्षित रहते। क्या लिबरल तब भी अभिभ्यक्ती की स्वतन्त्रता की बात करते।