Monday, October 18, 2021

TOPIC

Hinduism a way of life

Vedic literature and Bhagavad Gita: Connecting the world through Indian way

The Vedic literature and Bhagavad Gita assure us on the path of wisdom inculcating human values, growing materially and spiritually in all dimensions of life, nurturing environment.

‘Ram Mohan Roy effect’ on Hindu Bengali

Ram Mohan Roy opened too many fronts in too little time for his reform works among Hindu Bengali community. He succeeded in some, and failed in others.

The forgotten science of ancient Hindus

The purpose of this article is to present the link and logical affinities between Hindu scientific investigation and that of Greeks, Chinese, and Saracens, as well as to provide a comprehensive, albeit brief, account of middle ages India's entire scientific work in terms of the development of other lands.

4 lessons from Mahabharat and Ramayan to modern day Hindus

Mahabharata is one of the best guide to us in learning lots of things.

जैसा ज्ञान, वैसा भगवान

अपनी उत्पत्ति से ही मनुष्य ने अपने ईश्वर को जानने की कोशिश की है, भले ही अभी तक सफल न हो पाया हो पर शायद अपने ज्ञान के प्रति निरंतर प्रयासों से एक दिन वह अपने इस सृष्टि के निर्माता को समझ पाए।

Hinduism and science

Hinduism has a lot to offer to modern science.

अक्षय फलदायक पर्व है अक्षय तृतीया

वैशाख मास में शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को बसंत ऋतु का समापन होकर ग्रीष्म ऋतु प्रारम्भ होती है और इसी दिन को हम सनातनी अक्षय तृतीया या आखा तीज कहते हैं।

Understanding importance of family in conservation of Dharma

As Hindus, we often do not understand the significance of the family as a unit of society in protecting Dharma and keeping its principles alive.

शिव का अभिषेक क्यों और कैसे करें?

रुद्राभिषेक अर्थात रूद्र का अभिषेक करना यानि कि शिवलिंग पर रुद्रमंत्रों के द्वारा अभिषेक करना। जैसा की वेदों में वर्णित है शिव और रुद्र परस्पर एक दूसरे के पर्यायवाची हैं। शिव को ही रुद्र कहा जाता है।

हिन्दू विरोधी वैचारिक प्रपंच, शब्दों का भ्रम (भाग-१)

धर्म शब्द को जिस प्रकार अनुचित अनर्थकारी व्याख्या के साथ प्रचलित किया गया है। इससे अधिक विनाशकारी आघात हिन्दू समाज को संभवतः ही किसी और शब्द से हुआ हो।

Latest News

Recently Popular