Tuesday, March 9, 2021

TOPIC

fake feminism

Western feminism विष, नारी शक्ति अमृत है

विश्व के मुख्य तीन बड़े धर्म इस्लाम, क्रिश्चियनिटी और सत्य सनातन हिंदू धर्म में से हिंदू धर्म ही एकमात्र ऐसा धर्म है जिसमें परमेश्वर के स्त्री रूप को समान मान्यता दी गई है। भगवान शिव को कई अलग-अलग रूप में पूजा जाता है। जिनमें से एक है उनका अर्द्धनारीश्वर रूप। शिव का यह अवतार स्त्री और पुरुष की समानता दर्शाता है।

सुनो तेजस्विनी, सिगरेट, शराब, ड्रग्स, गाली गलौच “कूल” नहीं है

पिछले लगभग ढाई दशकों में कुछ अपवादों को छोड़कर स्त्री विकास या स्त्री सशक्तीकरण पर बाज़ार और उपभोक्ता संस्कृति का प्रत्यक्ष प्रभाव रहा है, जिसके कारण उसका संघर्ष शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वावलंबन, निर्णय क्षमता और अधिकार, आध्यात्मिक विकास जैसे मूल विषयों से भटक कर, “मैं जो चाहूं वो करूँ” पर सिमट कर रह गया है।

Creation of Misogynistic “Timmaurh Khana” in Sushant Singh Rajput Case

While commenting on the debate of misogyny, who are to the real blame, the parochial political agenda? The patriarchal media trial? The outburst on “Timaurh-Khana? Or many more women either pitted or to be pitted against one another?

Congress goons who attacked Arnab Goswami and Samyabrata Ray revealed their association with Congress party: Hypocrisy of left liberal ecosystem on freedom of press...

If a women is wife of Arnab Goswami or is a acid attack victim who supports right wing of India; their life doesn't matter to them.

अगर महिला अपराधी तो सवाल क्यों नहीं? ठीक ऐसे ही जैसे पुरुष पर उठाये जाते हैं..

दुनिया लड़की का भी सच जानती है मगर 90 प्रतिशत मामलों में बलि का बकरा कौन बनता है, हर बार सिर्फ पुरुष!

Diversity and quality can’t co-exist

It so stupid to see that people who advocate for equality among all castes, creeds, races, religions and gender, are the same people who say we should uphold India's diversity

Leftists’ feminism is an insult to womanhood: An open letter to women on women’s day

Feminism was and is a good and powerful tool but the Left-Liberals have made it a weird thing. Radical feminists literally hate men and blame everything on patriarchy when things don’t go their way.

सबरीमाला: कहानी धर्मयुद्ध की

अगर सबरीमाला मंदिर की लड़ाई सच में औरतों के हक की लड़ाई है तो क्यों इतनी औरतें उसके खिलाफ हो गयी थीं?

Latest News

Recently Popular