Sunday, April 14, 2024

TOPIC

English Language

Teaching in universities- Local language use

Recently, the University Grants Commission (U.G.C) chief, requested the universities to allow students to write their examinations in the local language, even if, the course is offered in English medium.

The rise of Hinglish

When it comes to languages, we’re all familiar with English and even Hindi, but what about the new phenomenon- Hinglish?

हिन्दी भाषियों में बढ़ती हीन भावना

यह जो हिन्दी मीडियम और अंग्रेजी मीडियम की दीवार है यहीं होती है ‘Inferiority Complex’ की शुरुआत। क्योंकि लोगों को लगता है कि अंग्रेजी भाषा में हिंदी, राजस्थानी, मराठी या किसी अन्य प्रदेश की भाषा से रोजगार की तुलना में अधिक अवसर हैं।

Why communication in English is gaining grounds

A very slow yet steady move has been noticed in communication in English. Education is the prime ground where the necessity of English communication is felt.

जातिवाद का नया रूप

१. सामाजिक तिरस्कार २. न्याय ना मिलना ३. शिक्षा ना मिलना ४. नौकरी ना मिलना ५. बैंक इत्यादि सामाजिक सुविधाओं का लाभ ना मिलना। ये सभी दोष नए रूप में पनप रहे जातिवाद अधिक प्रचण्ड मात्रा में है। और इस जातिवाद का नाम है , अंग्रेजी भाषा का हर क्षेत्र में प्रयोग।

Assimilating English into the wave of Hindutva

If we are to popularize a culture-rooted narrative, English shall be of great import. It is possible to not adopt the anglophile elitism and yet stay relevant in academia espousing such a narrative

हिंदी की व्यथा..

हिंदी का खो गया अभिमान, भारत में अंग्रेजी है अब, पढ़े-लिखों की पहचान l बोलकर अंग्रेजी, होता है बड़ा गुमान, हिंदुस्तान में हिंदी, खो चुकी सम्मान l

Why Tamil Nadu needs Hindi

They accept Urdu which is 90% similar to Hindi to please the Muslims but hate Hindi. The Chennai Corporation runs a quite a large number of Urdu Medium primary schools in Muslim dominated areas.

70 years passed and we are still slaves of British, mentally

India has seen a vast growth in almost every sector but still today we are mental slaves of Colonial rule with the spectacles of British Mindset and principles.

हिंदी भाषा का बढ़ता अंग्रेजीकरण

हिंदी भाषा मे बढ़ते प्रदूषण के लिए मीडिया से ज्यादा हम एक समाज के तौर जिम्मेदार है। न जाने कितनी बार हम हिंदी भाषा का मजाक बनते हुए देखते हैं परन्तु हमारे लिए यह सब अब ‘नार्मल’ हो चला हैं।

Latest News

Recently Popular