Saturday, April 13, 2024

TOPIC

dalit politics

Why we should debate on Hindu scripture

It’s very easy to make false statements by twisting the facts but its indeed a very difficult thing to digest the truth about one’s own past.

Farms agitation, Reddy ghost, Sidhu and Dalit politics in Punjab

May be the same fate await Congress Party in Punjab and Channi be another Joginder Mondal, Giridhar Gamang and Hemananda Biswal.

दलित प्रेम दिखावा है?

बार–बार दलित–मुस्लिम एकता के दुहाई देने वाले नेता गण इस मामले से बचने की कोशिश क्यों कर रहे हैं? क्या दलित–मुस्लिम गठजोड़ की बात करना सिर्फ चुनावी स्टंट है? देश में स्वघोषित दलित नेता का दलित प्रेम सिर्फ दिखावा है।

दलित!

विलुप्त होती कांग्रेस के लिए दलित सम्मान के ऐसे मौके शायद सिर्फ राजनीतिक जरूरत हैं। दलित सशक्तिकरण का कोई उदाहरण मुझे तो याद नही आता।

समकालीन मुद्दे और वाम-पंथ

भारतीय संस्कृति के बारे में इतिहासज्ञों एवं विद्वानों के पास एक भी प्रमाण ऐसा नहीं है कि जो इस सनातन संस्कृति को संकीर्ण, परंपरावादी, धर्मांध, नारी विरोधी एवं दलित विरोधी साबित कर सके। किंतु, जब भी कोई दुष्कर्म जैसी घटना होती है तो उसके तमाम संदर्भों को भुलाकर चोट केवल सनातन के प्रतीकों पर होती है।

भारत में जातिवादी टकराव सच है या राजनीति

हाल के ही दिनों में दो प्रमुख घटनाएँ सामने आयीं है जिसे देख के लगता है की भारत में जातिवादी भावना भरी गई है ताकि हिन्दुओं में टकराव बना रहे और कुछ तथाकथिक धर्मनिरपेक्ष राजनितिक दल अपना प्रभाव और प्रभुत्व भारत में बना के रख सकें।

मोबलिंचिंग के नाम पर झारखंडी राजनीति

जिन दलित हिंदुओं को तथाकथित मॉब लिंचिंग के नाम पर प्रताड़ित किया जा रहा है उनके लिए दलित की राजनीति करने वाले नेताओं का रवैया कैसा रहने वाला है। तुष्टिकरण की राजनीति करने वाले नेताओं के गले की हड्डी बन चुकी यह घटना अब उनके ना तो निकलते बन रही है और ना ही उगलते।

दलित संघी

मेरा दलित होना या नही होने का आधार मेरी जाति या मेरे साथ होने वाला भेदभाव नहीं है अपितु मेरी जाति के तथाकथित ठेकेदारों की विचारधारा है, जो उस भ्रष्ट ठेकेदारी प्रथा के साथ है उनके हिसाब से वो सब दलित है और जो इस विचारधारा के साथ नहीं वो केवल एक कट्टर संघी हिन्दू है।

Injustice of Justice Party to depressed class and further troll of Tamil Nadu by Dravidian dynasty

If Tamil Nadu has to march towards development and sab ka vikas, Dravidian brand politics of hatred, negativity, anti-Hindu, anti-Hindi, anti-God must end.

He is the real PERIYAR of Tamil Nadu- ‘Madurai Vaidyanatha Iyer’

The initiatives of Vaidyanatha Iyer for the entry of Dalits in Meenakshi temple was the first step towards the abolishing untouchability in Tamil Nadu.

Latest News

Recently Popular