Tuesday, December 1, 2020

TOPIC

dalit politics

दलित!

विलुप्त होती कांग्रेस के लिए दलित सम्मान के ऐसे मौके शायद सिर्फ राजनीतिक जरूरत हैं। दलित सशक्तिकरण का कोई उदाहरण मुझे तो याद नही आता।

समकालीन मुद्दे और वाम-पंथ

भारतीय संस्कृति के बारे में इतिहासज्ञों एवं विद्वानों के पास एक भी प्रमाण ऐसा नहीं है कि जो इस सनातन संस्कृति को संकीर्ण, परंपरावादी, धर्मांध, नारी विरोधी एवं दलित विरोधी साबित कर सके। किंतु, जब भी कोई दुष्कर्म जैसी घटना होती है तो उसके तमाम संदर्भों को भुलाकर चोट केवल सनातन के प्रतीकों पर होती है।

भारत में जातिवादी टकराव सच है या राजनीति

हाल के ही दिनों में दो प्रमुख घटनाएँ सामने आयीं है जिसे देख के लगता है की भारत में जातिवादी भावना भरी गई है ताकि हिन्दुओं में टकराव बना रहे और कुछ तथाकथिक धर्मनिरपेक्ष राजनितिक दल अपना प्रभाव और प्रभुत्व भारत में बना के रख सकें।

मोबलिंचिंग के नाम पर झारखंडी राजनीति

जिन दलित हिंदुओं को तथाकथित मॉब लिंचिंग के नाम पर प्रताड़ित किया जा रहा है उनके लिए दलित की राजनीति करने वाले नेताओं का रवैया कैसा रहने वाला है। तुष्टिकरण की राजनीति करने वाले नेताओं के गले की हड्डी बन चुकी यह घटना अब उनके ना तो निकलते बन रही है और ना ही उगलते।

दलित संघी

मेरा दलित होना या नही होने का आधार मेरी जाति या मेरे साथ होने वाला भेदभाव नहीं है अपितु मेरी जाति के तथाकथित ठेकेदारों की विचारधारा है, जो उस भ्रष्ट ठेकेदारी प्रथा के साथ है उनके हिसाब से वो सब दलित है और जो इस विचारधारा के साथ नहीं वो केवल एक कट्टर संघी हिन्दू है।

Injustice of Justice Party to depressed class and further troll of Tamil Nadu by Dravidian dynasty

If Tamil Nadu has to march towards development and sab ka vikas, Dravidian brand politics of hatred, negativity, anti-Hindu, anti-Hindi, anti-God must end.

He is the real PERIYAR of Tamil Nadu- ‘Madurai Vaidyanatha Iyer’

The initiatives of Vaidyanatha Iyer for the entry of Dalits in Meenakshi temple was the first step towards the abolishing untouchability in Tamil Nadu.

Communism is against Indian Ethos

The communists have been trying to peel away the Indian way of life, looking for similarities between the class struggles in Europe and conditions in India to fit their narrative and somehow gain legitimacy to survive.

Anti-Brahmin upper caste politics of DMK and neglect of Dalit

If the untouchable Brahmins and Dalit join together with Narendra Modi led BJP, a New Tamil Nadu is possible and the present Dravidian politics can be banished.

Dalit politics and real questions

These questions deserve to be asked and answered

Latest News

गुपकार गैंग द्वारा रोशनी एक्ट की आड़ में किया गया 25000 करोड़ रुपए का घोटाला!

व्यवस्था का लाभ उठाकर 2001 से 2007 के बीच गुपकार गैंग वालों ने मिलकर जम्मू-कश्मीर को जहाँ से मौका मिला वहाँ से लूटा, खसोटा, बेचा व नीलाम किया और बेचारी जनता मायूसी के अंधकार में मूकदर्शक बनी देखती रही।

Death of the farmer vote bank

While in the case of a farmer the reform delivered double benefit but the political class faces double whammy, that of losing its captive vote bank that was dependent on its sops and secondly losing the massive income they earned as middlemen between the farmer and the consumer. Either the farmer is misinformed or wrongly instigated, otherwise it is impossible to conceive that any farmer should be actually unhappy or opposed for being given more choices, as to whom to sell their produce.

Teachers assign essays with a 280 character limit

This a satire news article, which 'reports' that the government has added 280 character essays to the educational curriculum in an attempt to train students to use Twitter in the future. Note: I have chosen an image of a school from your media library and added the twitter logo on top of it.

हिन्दू विरोधी वैचारिक प्रपंच, शब्दों का भ्रम (भाग-१)

धर्म शब्द को जिस प्रकार अनुचित अनर्थकारी व्याख्या के साथ प्रचलित किया गया है। इससे अधिक विनाशकारी आघात हिन्दू समाज को संभवतः ही किसी और शब्द से हुआ हो।

Ind vs Aus 1st ODI में ऑस्ट्रेलिया का भारत के खिलाफ नया वनडे रिकॉर्ड

आज का दिन भारतीय टीम के फैन्स के लिए निराशा भरा रहा जिसमे आज भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मे खेली जा रही 3 वनडे मैचों की सीरीज के पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 66 रन से हरा दिया है और अब इस 3 एकदिवसीय मैच की सीरीज में 1-0 की लीड बना ली है।

Recently Popular

गुप्त काल को स्वर्ण युग क्यों कहा जाता है

एक सफल शासन की नींव समुद्रगप्त ने अपने शासनकाल में ही रख दी थी इसीलिए गुप्त सम्राटों का शासन अत्यधिक सफल रहा। साम्राज्य की दृढ़ता शांति और नागरिकों की उन्नति इसके प्रमाण थे।

सामाजिक भेदभाव: कारण और निवारण

भारत में व्याप्त सामाजिक असामानता केवल एक वर्ग विशेष के साथ जिसे कि दलित कहा जाता है के साथ ही व्यापक रूप से प्रभावी है परंतु आर्थिक असमानता को केवल दलितों में ही व्याप्त नहीं माना जा सकता।

The story of Lord Jagannath and Krishna’s heart

But do we really know the significance of this temple and the story behind the incomplete idols of Lord Jagannath, Lord Balabhadra and Maa Shubhadra?

वर्ण व्यवस्था और जाति व्यवस्था के मध्य अंतर और हमारे इतिहास के साथ किया गया खिलवाड़

वास्तव में सनातन में जिस वर्ण व्यवस्था की परिकल्पना की गई उसी वर्ण व्यवस्था को छिन्न भिन्न करके समाज में जाति व्यवस्था को स्थापित कर दिया गया। समस्या यह है कि आज वर्ण और जाति को एक समान माना जाता है जिससे समस्या लगातार बढ़ती जा रही है।

Avrodh: the web-series that looks more realistic and closer to the truth!

The web-series isn't about the one Major who lead the attack, its actually about the strike and the events that lead to it, Major was a part of a big picture like others who fought alongside him, the snipers, the national security advisor so on and so forth.