Tuesday, March 9, 2021

TOPIC

Chinese infiltration in India

चीन की मक्कारी व अहंकार को चूर करता अमेरिका का “तिब्बतियन निति व् समर्थन अधिनियम २०२० (Tibetan Policy and Support Act)”

इतिहास गवाह है की राजनीतिक दृष्टि से तिब्बत कभी चीन का अंग नहीं रहा। ७ वीं शताब्दी तक मध्य एशिया के एक भू-भाग पर तिब्बत का आधिपत्य रहा। चीन का तिब्बत के साथ सम्बंध ७ वीं शताब्दी में हुआ, वह भी चीन की पराजय के रूप में।

नेपाल में भारत की कूटनीतिक जीत

कम्युनिस्ट पार्टी में दिक्कत चीन के लिए बुरी खबर है। नेपाल में कम्युनिस्ट पार्टी के सत्ता में आने के बाद से ही भारत विरोधी सेंटिमेंट्स को हवा मिलनी शुरू हो गई थी। अगर नेपाल में कम्युनिस्ट पार्टी कमजोर होती है तो भारत के साथ रिश्ते फिर से बेहतर होने की उम्मीद है।

India must alarm as China is plotting insurgency and bolstering infra in the North-East

ndia needs to make herself strong economically as once its economy remains stable then it would enhance India’s political, diplomatic and military capabilities.

Pavlov’s Puppies

In the aftermath of the 1962 war, whenever the Chinese have violated the LAC, the communist left leaning Indian media, has managed to convince India that China is too strong an enemy to face in case of an armed conflict. The only way to solve a border dispute with China is to stand down and have talks. Conflict with Pakistan was never viewed in the same prism (Maybe

Learnings from Galwan Valley- Part II. Implications of conflict with the strongest neighbour

Both, Hitler and Xi Jinping blundered in provoking open conflict with their respective immediate neighbours. Why were these a blunder? Read on.

Sinful world of today

As reported by a senior intelligence officer of the US, the Chinese have made a plan to rule the world and use each and every possible technique in the book to achieve this goal.

Should we continue working with BRICS?

China is only loyal to one policy- backstabbing and cheating every country!

Indo-China relations: Case for a change in India’s foreign policy

China has routinely acted against Indian interests whenever it has got a chance. And India has just tried to appease China by giving in to its desires and requests.

Specter of cold war

It is high time for our Government to gear up firm and positive measures to safeguard the boundaries of our country for avoiding disastrous consequences.

आज के भारत की महाभारत

हर बार चीन ही भारत की सीमा पर हलचल की पहल क्यों कर जाता है? इसका जवाब 2013 में कॉन्ग्रेस सरकार के रक्षा मंत्री एंटनी ने दिया था, "आजादी के बाद से ही सीमावर्ती इलाकों में रोड इसलिए नहीं बनाईं गई क्योंकि भारत की सरकारों को डर था कि अगर चीन ने सीमा पर तैनात भारतीय जवानों को मार भी दिया तो भी वह खराब रास्तों की वजह से भारतीय क्षेत्र में ज्यादा अंदर नहीं घुस पाएगा!"

Latest News

Recently Popular