Saturday, June 15, 2024
33 Articles by

Abhishek Kumar

Politics -Political & Election Analyst

सिद्धू मूसेवाला की हत्या पर AAP सरकार कठघरे में!

शुभदीप सिंह सिद्धू उर्फ़ सिद्धू मूसेवाला की हत्या कानून व्यवस्था की हालत तो बता ही रही हैं, उससे भी बड़ा सवाल राज्य सरकार के उस फ़ैसले पर भी खड़ा हो गया हैं जिसमें सरकार ने अचानक से चार सौ ज्यादा महत्वपूर्ण व्यक्तियों की सुरक्षा वापस ले ली.

भाजपा की महाराष्ट्र में असम दोहराने की तैयारी

भाजपा की राजनीति के सामने शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी को बहुत चौकन्ना रहने होगा, ये देखना दिलचस्प होगा कि भाजपा संख्याबल ना होने के बाद भी तीसरी सीट जीत पाती हैं या नहीं, अगर भाजपा अपने मिशन में सफल हो गई तो ये महाविकास अघाड़ी गठबंधन के लिए भी किसी बड़े झटके से कम नहीं होगा.

आतंकी मंसूबे और कश्मीरी पंडितों पर निशाना

बडगाम के चडूरा तहसील कार्यालय में घुसकर जिस तरह इस्लामिक दहशतगर्दों ने एक कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या कर दी, उससे  स्वाभाविक ही वहां के लोगों में रोष बढ़ा हैं. इससे एक बार फिर पंडितो के घाटी छोड़ने को लेकर चिंता पैदा हो गईं हैं.

भाजपा से विपक्ष को सीखना चाहिए

वो कहते हैं ना सफलता का कोई शार्टकट नहीं होता हैं, भाजपा ने ये साबित कर दिखाया।

मदरसों की बढती संख्या और बिगडता जनसंख्या संतुलन

देश के कई राज्यों के सीमावर्ती इलाकों में मदरसों की तेजी से बढती संख्या और बिगडते जनसंख्या संतुलन से खुफिया एजेंसियां चौंक गई हैं।

RLD पर फिर मंडराया मान्यता रद्द होने का ख़तरा

लोकसभा चुनाव 2019 के बाद चुनाव आयोग ने तीन राष्ट्रीय पार्टियों और छह राज्यों में राज्य स्तरीय पार्टियों की मान्यता रद्द करने का नोटिस दिया था, इसमें आरएलडी सहित पांच पार्टियाँ शामिल थी.

भाजपा को अपनी जीत की समीक्षा करनी चाहिए

भारतीय जनता पार्टी एक मात्र ऐसी पार्टी हैं जो चुनाव में हार की बड़ी निर्ममता से समीक्षा करती हैं. केवल समीक्षा नहीं करती उसके हर पहलु पर विचार के बाद उसके सुधार के उपाय भी किए जाते हैं.

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव बीजेपी नहीं, जनता लड़ रही हैं

आगामी 10 मार्च को योगी आदित्यनाथ के भाग्य का फैसला हो जायेगा. ये लहर कितना प्रचंड रूप दिखाती हैं ये चुनाव परिमाण के बाद सबके सामने आ जायेगा.

जयंत के सामने रालोद के अस्तित्व को बचाने चुनौती

अजित सिंह को विरासत में मिली थीं करीब 36 सीटेंअजित सिंह को विरासत में अपने पिता से 36 सीटें मिली थी, लेकिन 2019 तक...

त्रिपुरा के बहाने महाराष्ट्र में कट्टरपंथियों का उपद्रव

जिन मुसलिम कट्टरपंथी संगठनों ने हिंसा कराई, केवल वे ही नही, बल्कि जिन लोगो ने देशव्यापी झूठ प्रचार कर लोगों को भडकाया, उन सबको कानून के कटघरे में खडा किया जाना बहुत आवश्यक हैं।

Latest News

Recently Popular