Monday, April 15, 2024

TOPIC

Varna-vyavastha

वेदों में जाति-भेद नहीं

वेद जो हिन्दू धर्म के सबसे प्राचीन पुस्तक हैं जाति-भेद की आज्ञा नहीं देते।

An insight into the Indian caste system: How we are systematically misguided by its misinterpretation

The unity is what saves Hindus today in this world where the mere existence of Hindus is considered offensive.

वर्ण व्यवस्था और जाति व्यवस्था के मध्य अंतर और हमारे इतिहास के साथ किया गया खिलवाड़

वास्तव में सनातन में जिस वर्ण व्यवस्था की परिकल्पना की गई उसी वर्ण व्यवस्था को छिन्न भिन्न करके समाज में जाति व्यवस्था को स्थापित कर दिया गया। समस्या यह है कि आज वर्ण और जाति को एक समान माना जाता है जिससे समस्या लगातार बढ़ती जा रही है।

वर्ण व्यवस्था के संदर्भ में फैली भ्रांतियाँ

वर्ण शब्द का अर्थ कतई अंग्रेजी के कास्ट (caste) के समान नहीं है, क्योंकि यह जन्म आधारित नहीं वरन् कर्म आधारित है। और इसके अलावा इसमें चुनाव करने की स्वतंत्रता है।

Latest News

Recently Popular