Saturday, November 28, 2020

TOPIC

Racism in USA

Playing history with modern tools

Judging historical figures using modern standards not only insinuate injustice to the figure but also gives an impression of a society that fails to understand the complexities and historicities of the past and the present.

Will protestors bring down Karl Marx?

In spite of being very racist against native communities, blacks the so called intellectuals of modern day will never condemn these barbaric statements but will try to enforce us to look beyond these to create a so called egalitarian society which they were not able to create even after innumerous attempts across different countries.

रंगभेद का विरोध का ढोंग क्यूँ?

आज जो अफ्रीकन अपनी संस्कृति छोड़ कर धर्मपरिवर्तन कर के इसाई बन गए हैं और रंगभेद का विरोध कर रहे हैं उन्हें तो सबसे पहले इसाई धर्म छोड़ देना चाहिए, क्यूंकि वे वही बाइबल और चर्च को मान रहे हैं जिसमे सीधे तौर पे कहा गया है की गोरे लोग ही पवित्र है और काले लोग अपवित्र हैं और उन्हें गुलामी करने के लिए ही बनाया गया है।

वामपंथियों का दोहरा चरित्र और अमेरिकी हिंसा

एंटीका फासिस्ट सरकारों के खिलाफ शांतिपूर्वक विरोध प्रदर्शन करता है और हास्यास्पद बात यह है की एंटीफा एक रेडिकल वामपंथी समूह है। इस बात से यह तो अंदाजा हो ही जाता है की यह कितना शांतिपूर्वक प्रदर्शन करता है। जहां-जहां पर वामपंथी शांतिपूर्वक प्रदर्शन का ढोंग करते हैं वहां पर हिंसा अपने चरम स्थिति पर होती है।

Trump vs US Congress vs Judiciary in USA, a fascinating duel

Donald Trump’s ‘base’ has steadfast stood by him. The polarisation may help his re election bid too, though the poll numbers, on date, favour the presumptive Democratic Presidential candidate, Joe Biden, Vice President to President Barack Obama, for two terms.

मोहतरमा आप महान हैं..

अश्वेतों के प्रति अभिनेत्रियों के अकस्मात उमड़ते प्रेम पर कविता

2020 अमेरिका का सब से खराब साल बनने जा रहा है? पहले COVID-19 और फिर दंगे

America फिर से जल रहा है: आंशिक रूप से, जैसा कि हिंसा भड़कती है, पुलिस और उनके वाहनों पर हमला किया जाता...

Latest News

Teachers assign essays with a 280 character limit

This a satire news article, which 'reports' that the government has added 280 character essays to the educational curriculum in an attempt to train students to use Twitter in the future. Note: I have chosen an image of a school from your media library and added the twitter logo on top of it.

हिन्दू विरोधी वैचारिक प्रपंच, शब्दों का भ्रम (भाग-१)

धर्म शब्द को जिस प्रकार अनुचित अनर्थकारी व्याख्या के साथ प्रचलित किया गया है। इससे अधिक विनाशकारी आघात हिन्दू समाज को संभवतः ही किसी और शब्द से हुआ हो।

26/11 : संघ और हिंदूओं को बदनाम करने के लिए कांग्रेस का सबसे घटिया प्रयास

Hinduism is a complex, inclusive, liberal, tolerant, open and multi-faceted socio-spiritual system of India called “Dharma”. Due to its innumerable divergences, Hinduism has no concept of ‘Apostasy’.

Hinduism: Why non-Hindus can’t comprehend

Hinduism is a complex, inclusive, liberal, tolerant, open and multi-faceted socio-spiritual system of India called “Dharma”. Due to its innumerable divergences, Hinduism has no concept of ‘Apostasy’.

आओ तेजस्विनी, प्रेम की बात करें

इसे लव जिहाद कहा जाये या कुछ और किन्तु सच यही है कि लड़कियों के धर्म परिवर्तन के लिए प्रेम का ढोंग किया जा रहा है और उसमें असफलता मिलने पर उनकी हत्या।

Recently Popular

गुप्त काल को स्वर्ण युग क्यों कहा जाता है

एक सफल शासन की नींव समुद्रगप्त ने अपने शासनकाल में ही रख दी थी इसीलिए गुप्त सम्राटों का शासन अत्यधिक सफल रहा। साम्राज्य की दृढ़ता शांति और नागरिकों की उन्नति इसके प्रमाण थे।

सामाजिक भेदभाव: कारण और निवारण

भारत में व्याप्त सामाजिक असामानता केवल एक वर्ग विशेष के साथ जिसे कि दलित कहा जाता है के साथ ही व्यापक रूप से प्रभावी है परंतु आर्थिक असमानता को केवल दलितों में ही व्याप्त नहीं माना जा सकता।

The story of Lord Jagannath and Krishna’s heart

But do we really know the significance of this temple and the story behind the incomplete idols of Lord Jagannath, Lord Balabhadra and Maa Shubhadra?

Pt Deen Dayal Upadhyaya and Integral Humanism

According to Upadhyaya, the primary concern in India must be to develop an indigenous economic model that puts the human being at centre stage.

Daredevil of Indian Army: Para SF Major Mohit Sharma’s who became Iftikaar Bhatt to kill terrorists

Such brave souls of Bharat Mata who knows every minute of their life may become the last minute.