Tuesday, February 7, 2023

TOPIC

Madras High Court

मद्रास उच्च न्यायालय: एक ऐजेण्डे के रूप में सामूहिक धर्म परिवर्तन स्वीकार्य नहीं

कन्याकुमारी में ही स्थित एक चर्च के पादरी हैं जिनका नाम है Mr. P George Ponnaiah. इस पादरी ने अरुमनाइ नामक स्थान पर एक और क्रिश्चियन स्टेन स्वामी के मौत के अवसर पर ईसाइयो और हिंदुओ कि एक सभा को जुलाई, २०२१ में सम्बोधित करते हुए, भारत माता, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी, गृह मंत्री श्री अमित शाह जी और वंहा कि देवी "भू माता" के बारे में अत्यंत अपमानजनक और धार्मिक भावनाओं कप आहत करने वाली बातें कहीं थी और पूरे जोश में कहा था कि हम सबको ईसाई बनाएंगे और कोई भी हिन्दू इसे रोक नहीं पायेगा।

Template on a platter from Justices R Mahadevan and P D Audikesavalu

To Preserve and Protect Temples, Monuments of Heritage & National Importance

And the winner is: We the people

The proceedings before the Division Bench of Justices Vineet Kothari and R. Suresh Kumar, Madras High Court, on the challenge to the conduct of Tenth Standard State Board examinations from 15th June, 2020, made fascinating reading.

Justice Anand Venkatesh immunized his court from the viral impact

Justice Anand Venkatesh, who has by now put money worth Rs.10 crores and odd, in the hands of innocent accident victims, lending mite as more than a rescue and recovery package, they desperately needed.

Latest News

Recently Popular