Friday, June 14, 2024

TOPIC

JNU Goons

ABVP के 75 साल: छात्र आंदोलन और राष्ट्रीय सशक्तिकरण की एक प्रतिष्ठित विरासत

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (अभाविप) ने आपातकाल के दौरान एक महत्त्वपूर्ण संघर्ष किया। आपातकाल भारतीय इतिहास की एक अंधेरी घटना थी, जिसके दौरान न्यायप्रियता, मुक्त विचार और लोकतंत्र की प्रणाली को धीरे-धीरे नष्ट किया गया।

the Difficulties of practising hindu culture at JNU

The history of religious atrocities in JNU is one of the most overlooked facts of the campus. In previous years, especially since the 2010s a series of religious atrocities have taken place.

Are left student organizations mobilizing student movement?

Students are not going to accept terrorist worshiping and anti-national slogan raising. These common students are never going to accept violence and vandalism on the campus.

Cartoon: Violence by left in JNU

Left attacks innocents in JNU

क्या जेएनयू हिंसा छात्र संघों के राजनीतिक दलों से किसी भी तरह के साहचर्य को पूरी तरह से प्रतिबंधित करने का सही मौका नहीं...

क्या एक सभ्य लोकतंत्र को चलाने हेतु आवश्यक नागरिकों की नस्ल को पैदा करने और प्रशिक्षित करने के उद्देश्य में इस तरह के विरोध प्रदर्शन किसी तरह से उपयोगी हो पाएँगे? या ये अराजकता और तानाशाही को जन्म देंगे?

अर्बन नक्सलियों की फैक्ट्री : जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय

आपराधिक वारदातों के बढ़ने की एक ख़ास वजह यह भी है कि जब तक केंद्र में मोदी सरकार नहीं आयी थी, तब तक तो इन अर्बन नक्सलियों को अपनी गुंडागर्दी करने की पूरी छूट मिली हुई थी क्योंकि कमोबेश इन लोगों की विचारधारा का समर्थन करने वाली सरकारें देश की सत्ता पर अपना कब्ज़ा जमाये हुए थीं.

Latest News

Recently Popular