Monday, April 15, 2024

TOPIC

IBC 2016

भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता २०१६ (IBC) क्या है: पंचम भाग (Liquidation Process)

हम इस भाग में देखेंगे की परिसमापन (Liquidation) की प्रक्रिया कैसे होती है।

भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता २०१६ (IBC) क्या है: चतुर्थ् भाग (LIQUIDATOR)

भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता २०१६ (IBC) की धारा ३३ और इसके पश्चात की धाराओं में "परिसमापन" अर्थात लिक्विडेशन (LIQUIDATION) से सम्बंधित प्रावधानों को सूचीबद्ध किया गया है।

भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता २०१६ (IBC) क्या है: तृतीय भाग

इस भाग में हम ये देखेंगे की भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता २०१६ (IBC) के अंतर्गत प्रक्रिया होती कैसे है

भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता २०१६ (IBC) क्या है?: द्रितीय भाग

बड़े बड़े विषेशज्ञों से विचार विमर्श करने के पश्चात सभी इस निष्कर्ष पहुंचे कि यदि बैंको और अन्य वित्तीय संस्थानों में Non-Performing- Assets की संख्या पर नियंत्रण कर उसे निरंतर काम किया जाये तो बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के पास पैसा आएगा और जब इनके पास पर्याप्त मात्रा में पैसा आएगा तो युवाओं और अन्य नागरिकों को आसान ब्याज पर ऋण उपलब्ध होंगे।

भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता २०१६ (IBC) क्या है?: प्रथम भाग

वर्ष २०१६ में भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता संहिता को लागु करने की आवश्यकता क्यों पड़ी, आखिर इसकी आवश्यकता क्या थी? इस लेख के प्रथम भाग में हम संक्षिप्त रूप से इस विषय पर प्रकाश डालने का प्रयास करेंगे।

Decoding IBC 2016 in a simple and short manner

The new IBC code, implemented by the Modi Govt., came with the promise the insolvency acts shall be defragmented and the resolution process shall be handled in a matter of days, not decades.

Latest News

Recently Popular