Wednesday, December 7, 2022

TOPIC

hindu

हिंदुत्व को कमजोर करने वाले वामपंथी जरूर जान ले हिंदू सनातन संस्कृति का इतिहास, महाभारत में वर्णित ये पैतीस नगर

आज की वामपंथी विचारधारा लगातार हिंदुत्व को चोटिल कर रही है हिंदू देवी देवताओं पर टिप्पणी के अलावा हिंदुत्व को नीचा दिखाने में कुछ असामाजिक तत्व कोई कमी नही छोड़ रहे है हिंदू धर्म से अलग होकर बौद्ध या अन्य धर्म धारण करने वाले लोगो को हिंदुत्व में बुराई लगती है पर क्या उन्हे हिंदुत्व के इस इतिहास का पता है ? कभी नही होगा क्योंकि वो कुवे के मेढक है जिन्होंने कभी कूवे से बाहर की दुनिया देखी ही नही है।

History and Historiography on Prithviraj Chauhan – a course of conflict

Side effect of movies and serials on historical figures like Prithviraj Chauhan is accusative sub-standard content written for quick buck of fame and distributed with a stroke of arrogance. For facts to prevail It is imperative to debunk such reviews-turned-coercive-critiques which are 'part of the problem' literature.

Science test for Hindus: Skepticism and bias established in the minds of Hindu children

Instead of instilling curiosity about their religion, since childhood, a sense of being wrong and inferior is instilled in Hindus by many schools and society

Do you know Lord Hanuman discovered Surya Namaskar?

Surya Namaskar is a significant yoga practice that was first introduced during the Vedic period. At that time, Suryopasana was performed as an extremely powerful symbol for spiritual awakening. Let's begin by understanding the origin of Surya Namaskar (Sun Salutation):

महाशिवरात्रि का महत्व: जानिए महाशिवरात्रि से जुडी कथाये

मान्यता है कि इस दिन भगवान शिव की जो सच्चे दिल से पूजा करता है महादेव उसके सारे दुख हर लेते हैं और उसकी मनोकामना पूरी करते हैं यह तो हुई महाशिवरात्रि के मनाने की बात।

From India to Bharat- Brand Bharat is becoming a reality

India has seen differences on religion or ethnicity both from majorities and minorities side, which occurred, in every era of it’s history. Still it can proudly be the flag bearer of secularism.

मिशनरी तालिबान: मीठा जहर

हर कुछ समय में भारत के स्वर्ण के खिलाफ इस तरह का प्रोपेगेंडा चलाया जाता है। यह स्वर्ण के खिलाफ प्रोपेगेंडा नहीं है यह सभी हिंदुओं समेत पूरे भारतवर्ष को अपने निशाने पर ले रहा है।

आख़िर कहाँ और कितना बाकी है हिंदू?

स्वयं चिंतन ,स्वयं संगठन , स्वयं क्रिया , स्वयं पुरुषार्थ , तथ्यों से आगे कर्मबोध तक जाना है अन्यथा हिंदुओं की लुटिया खुद हिंदुओं को ही समयचक्र में पुनः पुनः डूबना है ।

Bursting mistaken beliefs of Sati

There are certain questions which need to be answered before discussing about Sati. Was Sati sanctioned and mandated in the religio-legal scripts or texts in ancient India?

बंगाल की हिंसा और हिंदुत्व समर्थक वर्ग का गुस्सा

ममता के पास अपने १० वर्षों के शासनकाल में जनता को दिखाने के लिए कुछ नहीं था अतः उन्होंने खुलकर मुस्लिम तुष्टिकरण की नीति पर चलते हुए हिन्दुओं को भरमाने का काम किया।

Latest News

Recently Popular