Monday, April 22, 2024

TOPIC

2020 Delhi Elections

शाहीन बाग की शाहीनता पर पत्रकारिता

ऐसा क्या है कि शाहीन बाग के किसी भी घटनाक्रम में केजरीवाल, उनकी पार्टी, लिबरल मीडिया और बीच बीच मे पाकिस्तान एक साथ उत्तेजित हो जाते हैं।

क्या केजरीवाल दिल्ली के लिए उचित है?

अब आप स्वयं पिछले 2 सप्ताहों का नजारा देख लीजियेगा, दिल्ली की हवा पूरी तरह से बदल चुकी है। अब कोई भी व्यक्ति निश्चित तौर पर यह नही कह पा रहा कि केजरीवाल ही आएगा।

Congress can shatter the dream of AAP in Delhi, advantage BJP

The game-changer can be INC who will decide the future of AAP in Delhi. Since recent trends are showing that INC is gaining back its voter’s faith, it poses a serious threat to AAP.

दिल्ली में भाजपा की बम्पर जीत लगभग तय

केजरीवाल की पार्टी किस तरह से एकदम हाशिये पर पहुँच चुकी है, उसका अंदाज़ा दिल्ली में पिछले 5 सालों में हुए नगर निगम और लोकसभा चुनावों की परिणामों को देखकर आसानी से लगाया जा सकता है.

AAP’s hollow claims exposed-AAP fielded candidates with criminal cases

Arvind Kejriwal gave Lok Sabha tickets to people with 380 and 382 cases against them, and was talking of 'clean candidates' in Goa and had the audacity to claim that AAP will field only clean candidates!

क्या हम केजरीवाल का समर्थन करके एक बड़ी निरंकुश व्यवस्था बना रहे हैं?

बात साफ़ है जो भी अरविन्द के सामने अपनी बात रखने की गलती करता है उसे पार्टी से बाहर कर दिया जाता हैI

Why Kejriwal wants a free ride to the CM office

The 2015 manifesto of AAP spoke about CCTVs in all buses. AAP has promised to install CCTVs again. Of course, just CCTVs will not be safe enough for the AAP to secure their seats in 2020 election. They need some free passes to ride their luck.

Latest News

Recently Popular