Friday, May 14, 2021
6 Articles by

sheenasharma

एमएसएमई उद्यमियों के लिए टॉप 5 सरकारी योजनाएं

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय ने स्टार्टअप्स और छोटे बिजनेस के लिए कई सरकारी योजनाएं शुरू की हैं, जिनका उद्देश्य उन्हें अधिक संसाधन और अधिक विकास को गति प्रदान करने के लिए एक मंच प्रदान करना है।

भारत में महिला उद्यमियों के सामने आने वाली समस्याएं और उनका समाधान

आइये इस आर्टिकल में आपको बताते हैं कि भारत में महिला उद्यमियों के सामने किस प्रकार की समस्याएं आती हैं और समस्याओं का निदान कैसे किया जा सकता है।

प्रधानमंत्री रोजगार योजना में ₹5 लाख लोन के लिए आवेदन कैसे और कहा करें

प्रधानमंत्री रोजगार योजना के तहत पात्र लोगों को अधिकतम 25 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन मिलता है। हालांकि सबसे बड़ी शर्त यह है कि बिजनेस प्रोजेक्ट में निवेश होने वाले धन का 10 प्रतिशत हिस्सा खुद कारोबारी को अपने स्तर से लगाना होता है।

शुरू करें 5 बिज़नेस सरकार देगी 90 फीसदी लोन

कुछ बिजनेस पर सरकार की तरफ से 50 प्रतिशत लोन उपलब्ध कराया जाता है तो वहीं एमएसएमई कैटेगरी के कुछ बिजनेस पर 90 प्रतिशत तक बिजनेस लोन मुहैया कराया जाता है।

एमएसएमई कारोबारियों की खेवनहार मुद्रा लोन योजना

2015 से पहले तक जहां सुक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमियों के लिए एक भी कल्याणकारी योजना नहीं थी।; वहीं 2015 में श्री नरेंद्र मोदी जी के प्रधानमंत्री बनने के बाद एमएसएमई सेक्टर के लिए कई कल्याणकारी योजनओं का संचालन किया जा रहा है। मुद्रा लोन योजना उन्हीं योजनाओं में से एक सरकारी योजना है।

कारोबारियों के लिए वरदान साबित हुई है पीएम मुद्रा योजना

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना 2015 में शुरु हुई है। मुद्रा योजना में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम (एमएसएमई) कारोबारियों को तीन कैटेगरी में 10 लाख तक का बिजनेस लोन बिना कुछ गिरवी रखें दिया जाता है।

Latest News

Recently Popular