Wednesday, April 17, 2024

TOPIC

#WakeUp #PseudoPatronsOfHumanRights

अपराधियों की स्वीकार्यता वाला समाज नहीं चाहिए तो……

आतंकवादी तो हमेशा से ही गरीब हेड मास्टर के बच्चे, प्रोफेसर, सिविल सर्विस एसपाईरेंट या सुरक्षा बलों से प्रताड़ित दबे, कुचले शांतिप्रिय वगैरह वगैरह होते रहे हैं।

Latest News

Recently Popular