Saturday, October 8, 2022

TOPIC

Twitter vs Indian Govt

Twitter has become too big!

Following the rules Google, Facebook, Instagram already published in this month, that in itself is a big step. But Twitter has not.

ट्वीटर बना निहित स्वार्थ ताकतों का अड्डा

उपराष्ट्रपति राजनीति से ऊपर हैं. वे संवैधानिक पद पर हैं. क्या ट्विटर अन्य संवैधानिक पदों पर बैठे अन्य व्यक्तियों अन्य नेताओं के साथ ऐसा दुर्व्यवहार कर सकता है?

Latest News

Recently Popular