Wednesday, January 20, 2021
25 Articles by

PANKAJ JAYSWAL

Author, Writer, Educationist. Counsellor, AOL faculty, Electrical Engineer

Science diplomacy and Vedic knowledge

charya Chanakya’s management philosophies/principles were used to make modern principles and are being used worldwide.

किसान बिल 2020: विरोध या जश्न?

यह जश्न मनाने का समय हैं ना कि विरोध करने का समय है, क्योंकि शोषण करनेवाले कभी भी इन सुधारो का साथ नही देंगे, हमे मजबूती से सरकार और किसानों के साथ रहना हैं और साथ ही साथ सामाजिक और आर्थिक रूप से हमारे प्यारे किसानों के सशक्त और संवर्धित मूल्य में और वृद्धि करनी है।

मानवता के लिए मानव होना…

मनुष्य जीवन सभी जीवित प्राणियों मे सौभाग्यशाली है क्योकीं प्रकृति ने हमें विशाल मन, विशाल बुद्धि, स्मृति नामक असीमित भंडारण दिया है जिसे हम उद्देश्य जानने के बाद भी अनदेखा कर देते हैं और इसे गंभीरता से नही लेते हैं।

भगवद गीता: कठिन समय की आवश्यकता

हम भारतीय सामान्य रूप में, आमतौर पर हमारे प्राचीन ज्ञान को अधिक महत्व नहीं देते हैं, जो पश्चिमी देशों और कई अन्य देशों में गहराई से अंतर्दृष्टि प्राप्त करने और इस महान ज्ञान को ग्रहण करने के लिए प्रयास करते हैं, जो हमें हमारे प्राचीन ऋषियों ने आसानी से विरासत में दिया है।

प्लास्टिक एक घातक हथियार

क्या आपने कभी प्लास्टिक प्रदूषण के नकारात्मक प्रभावों के बारे में सोचा है कि हम अपने स्वास्थ्य और पर्यावरण पर दिन-प्रतिदिन बढ़ रहे हैं?

आधुनिक समय में वैदिक ज्ञान का महत्व

एक राष्ट्र के रूप में हम समय की कसौटी पर खरे उतरे हैं। भले ही हम अभी भी एक बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था हैं, हम एक असफल राष्ट्र नहीं हैं। अतीत में, हमारे देश ने हजारों वर्षों तक सफलता के शिखर को प्राप्त किया था। इस तरह की विरासत का दावा कितने देश कर सकते हैं?

Importance of Vedic knowledge in modern times

We suffered a heavy loss economically, socially and spiritually owing to ignorance of our great Vedic literature. It is time to put our focus back on Vedic knowledge so that our youngsters grow on all fronts.

Change in Approach: Medical Education

The current government is seriously working on to bring exponential changes in the field of medical education that should have also been taken care of in first 65 years of independence.

Aatmanirbhar Bharat and women empowerment

Contribution of women in the growth history is quite visible however, as a society we have failed to maintain the dignity of a woman. We need to change our mind set and vision.

Farmer bills 2020: Protest or celebrate?

It’s time to celebrate and not protest, as the exploitation masters have been tossed up by these reforms and at the same time empowered and enhanced value of our lovely farmers socially and economically.

Latest News

USA is now a constitutional relic & not a republic

All the founders of the US Constitution and even our own framers from the Constituent Assembly must be squirming in their graves, on what is playing out in the US.

पराजय नहीं, गौरवपूर्ण इतिहास है हमारा…

महाराणा का जीवन वर्तमान का निकष है, उनका व्यक्तित्व स्वयं के मूल्यांकन-विश्लेषण का दर्पण है। क्या हम अपने गौरव, अपनी धरोहर, अपने अतीत को सहेज-सँभालकर रख पाए? क्या हम अपने महापुरुषों, उनके द्वारा स्थापित मानबिन्दुओं, जीवन-मूल्यों की रक्षा कर सके?

Perseverance of Mewar

All of the Persia, England, Arabia felt honoured in sending costly embassies to Mughal Court, but Pratap sent word of defiance.

Right to protest of few privileged ones vs. Rights of the unorganized masses

Are the demands made by protesting groups are justified or not? Who are participating in the protest? Are they really farmers? Who are the organizers?

तां ड व !

OTT पर वेब सीरीज के नाम पर सेक्स, गालिया और नग्नता परोसी जाती ये तो हम सब जानते है। पर शायद पहली...

Recently Popular

Girija Tickoo murder: Kashmir’s forgotten tragedy

her dead body was found roadside in an extremely horrible condition, the post-mortem reported that she was brutally gang-raped, sodomized, horribly tortured and cut into two halves using a mechanical saw while she was still alive.

5 Cases where True Indology exposed Audrey Truschke

Her claims have been busted, but she continues to peddle her agenda

Daredevil of Indian Army: Para SF Major Mohit Sharma’s who became Iftikaar Bhatt to kill terrorists

Such brave souls of Bharat Mata who knows every minute of their life may become the last minute.

गुप्त काल को स्वर्ण युग क्यों कहा जाता है

एक सफल शासन की नींव समुद्रगप्त ने अपने शासनकाल में ही रख दी थी इसीलिए गुप्त सम्राटों का शासन अत्यधिक सफल रहा। साम्राज्य की दृढ़ता शांति और नागरिकों की उन्नति इसके प्रमाण थे।

“Power over People”: A tale of two democratically elected leaders

We talk about some parallels between two world leaders (Trump and Mrs. Gandhi) from the oldest and the largest democracies who chose power over people and had a very unfortunate and sad ending.