Saturday, September 24, 2022
2 Articles by

rahulvats

रथ मूसल - शिलाकंटक चालक, मल्ल महाजनपद से ।

“वैचारिक अधिनायकवाद”

अमेरिका में जो पुलिस द्वारा असंवेदनशील और बर्बर कृत्य हुआ उसका हम जब अवलोकन करते है तो पाते है कि इस घटना की निंदा और विरोध का जो आंदोलन है वो अपने उद्देश्य से दूर कहीं वैचारिक उन्मादी और हिंसक पशु समान लोगो के हाथों में पहुंच गया है जिनको एक चिंगारी की आवयश्कता थी अपनी कुंठा बाहर निकालने के लिए.

हिन्दू प्रवासी कामगारों का सोशल मीडिया लिंचिंग

भारत के कुछ वैचारिक उन्मादी प्रवृत्ति के पत्रकारों द्वारा सोशल मीडिया में भारतीय हिन्दू प्रवासी कामगारों में भय पैदा करने में अपना कोई कसर नहीं छोड़ रहे है और साथ ही साथ बहुसंख्यक समुदाय को एक प्रकार की अघोषित रूप से चेतावनी भी दे रहे है कि बेटा कायदे में रहो हम तो 52 मुमालिक है।

Latest News

Recently Popular