Tuesday, October 20, 2020

TOPIC

United Nations

COVID-19 Pandemic- Limitations of 20th century solutions for a 21st century problem

A take on why the world of today, run by 20th century principles,has come out short when confronted with the Covid-19 pandemic, a 21st century problem.

Why UN losing relevancy? R2P, resolutions & US factor

The primary goal of the UN is to maintain rationality among all the nations and global peace. However, in recent times, things have turned out to be messy.

अगर चीन सहयोग करता और मसूद अज़हर पर आतंकवादी होने की वैश्विक मोहर लग ही जाती तो क्या हासिल होता?

2008 में हाफ़िज़ सईद को संयुक्त राष्ट्र ने "वैश्विक आतंकवादी" घोषित कर दिया, इंटरपोल ने भी "रेड कार्नर नोटिस" जारी कर दिया, 2009 में अमरीका ने एक करोड़ डॉलर का इनाम घोषित कर दिया। क्या हुआ? हाफ़िज़ आज भी न सिर्फ खुलेआम पाकिस्तान में घूम रहा है।

The hard truth about Masood Azhar, China and UN listing

As per the Chinese Communist Party, the Nobel Peace Laureate, the Dalai Lama is a terrorist but a venom-spouting, jihadist is not, because both positions, although contrary, further Chinese self-interest.

Looking beyond the document- The SDGs

The Sustainable Development Goals are indeed a bright, new agenda serving as a prelude to an illustrious vision of transforming our world by 2030.

Be bored but don’t ignore such leeches in your newspapers

My baton is with you readers next time when you find such leeches in your newspaper.  I am bored, I say.

United Nations and its hypocrisy over Islamist terrorism

UN unveiled its hypocrisy over terrorism and its double standards addressing Islamist terrorism.

Pakistan’s photo fiasco at UN

When Maleeha Lodhi made a blunder at UN by displaying the picture of a Palestinian girl as a Kashmiri victim of Indian pellet guns.

Latest News

शांत कश्मीर और चिदंबरम का 370 वाला तीर

डॉ. मनमोहन सिंह की सरकार के सबसे शक्तिशाली मंत्रियो में से एक चिदंबरम आज वही भाषा बोल रहे है जो पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र तथा अन्य अंतर्राष्ट्रीय मंचो पर बोलता आया है। चिदंबरम यही नहीं रुके उन्होंने अलगाववादियों को भी महत्व देने की बात कही है।

मिले न मिले हम- स्टारिंग चिराग पासवान

आज के परिपेक्ष्य में बिहार का चुनाव कई मायनो में अलग है। मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री पारम्परिक राजनीती वाली रणनीति का अनुसरण कर रहे है तो वही युवा चिराग और तेजस्वी विरासती जनाधार को नए भविष्य का सपना दिखने का प्रयास कर रहे है।

How BJP can win seats in Tamil Nadu and Kerala

It is time for BJP to eye on Tamil Nadu and Kerala. In Lok Sabha election 2024 BJP will win ±15 seats in TN and ±3 seats in Kerala.

Brace for ad Jihad

Delusionary fairy tale

Why this hullabaloo about shifting Bollywood?

Let the new film city emerge as the genuine centre for producing high quality films that are genuinely Indian and be helpful in building a strong value-based society.

Recently Popular

Jallikattu – the popular sentiment & ‘The Kiss of Judas Bull’ incident

A contrarian view on the issue being hotly debated.

सामाजिक भेदभाव: कारण और निवारण

भारत में व्याप्त सामाजिक असामानता केवल एक वर्ग विशेष के साथ जिसे कि दलित कहा जाता है के साथ ही व्यापक रूप से प्रभावी है परंतु आर्थिक असमानता को केवल दलितों में ही व्याप्त नहीं माना जा सकता।

How I was saved from Love Jihad

A personal experience of a liberal urban woman and her close brush with Islam.

Twitter wrongfully reports Jammu & Kashmir’s location again

In February of this year Twitter was accused of getting Jammu & Kashmir’s location wrong.

हिंदू धर्म की भावनाओं को ठेस पहुंचाना कहां तक उचित है??

विज्ञापन में दिखाए गए पात्रों के धर्म एक दूसरे से बदल दिए जाएं तो क्या देश में अभी शांति रहती। क्या तनिष्क के शोरूम सुरक्षित रहते। क्या लिबरल तब भी अभिभ्यक्ती की स्वतन्त्रता की बात करते।