Friday, June 14, 2024

TOPIC

PETA vs Amul

Controversy to a conspiracy by PETA for India’s dairy industry (AMUL): A perspective

PETA’s generalities like male calves who are of no value to the dairy business cast out to starve and sold to be killed for flesh and skin, the cows used as milk machines and then abandoned/slaughtered, and the cow shelters (gaushalas) being severely crowded, and often poorly run are not entirely true.

देशी दूध में सिंथेटिक मिलावट के मल्टीनेशनल षडयंत्र का पैरोकार एनजीओ पेटा

पेटा इंडिया कोई पहला एनजीओ नही है जो भारत विरोधी प्रचार या गतिविधियों का हिस्सा बना हो, इससे पहले भी भारत मे राजनीतिक अस्थिरता पैदा करने, विकास परियोजनाओं को बाधित करने तथा किसी विशिष्ट के लिए माहौल बनाने-बिगड़ने में कई एनजीओ का नाम सामने आता रहा है।

Latest News

Recently Popular