Saturday, June 15, 2024

TOPIC

Kamlesh Tiwari

उत्तर प्रदेश पुलिस और कमलेश तिवारी

कमलेश तिवारी की हत्या युपी पुलिस की साफ़ नाकामयाबी और 'समुदाय विशेष' के लोगों की तरफ लिबरलिज़म है।

कमलेश तिवारी का कत्ल पहला मामला नहीं, दुनिया भर में अभिव्यक्ति की आजादी दबाने में इस्लामिस्ट सबसे आगे

इस्लाम पर टिप्पणी करने पर किसी को देश निकाला मिला, कोई मार दिया गया , किसी के सिर पर करोड़ों का इनाम रख दिया. देश में अभिव्यक्ति की आजादी को क्यों दबाया जा रहा, अगर टिप्पणी की थी तो कमलेश ने जेल भी तो काटी थी

Tanmay Bhatt episode: Selective Outrage and Glorification of the Offender

Glorification of the offender is called the new progressive idea.

Why Hinduphobia should not be the opposite of Islamophobia

Hinduism is under undue criticism

Thekedaar of Nationalism Vs Thekedaar of Free Speech and the Hypocrisy

It is great Indian Tamasha going on. All political parties took this opportunity to serve their votebanks.

Latest News

Recently Popular