मोदी को हिटलर बताने वाले कभी हिटलर के लिये गीत गाते थे

कल ओवैसी साहब कह रहे थे मोदी हिटलर की तरह व्यवहार कर रहे हैं अगर ये सही है तो ओवैसी साहब को अब तक भाजपा ज्वाइन कर लेनी चाहिये थी आख़िर हिटलर के सबसे बड़े हितैसी तो मुसलमान ही थे।

जेरुसलम के ग्रांड मुफ़्ती मोहम्मद अमीन अल हुसैनी को नाज़ी जर्मनी में गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाता रहा, फिलिस्तीन और अरब वर्ड से जर्मन SS के लिये बड़ी तादाद में भर्तियां हुई। यंहा तक की SS की एक अरब स्क्वाड भी बनाई गई जिसने युगोस्लाविया में बड़े पैमाने में जनसंहार किया और इसके पचास के करीब अफसरों को वार क्राइम्स का दोसी भी पाया गया।
1943 में मुफ़्ती को ऑस्चविट्ज़ डेथ कैंप का दौरा खुद सीनियर नाज़ी जनरल हेनरिक हाइमर ने कराया।

जर्मनी जाने से पहले ग्रांड मुफ़्ती ने ईराक में कुछ समय के लिये नाज़ी पार्टी के हक में तख्ता पलट भी कराया था। ऐसा नही है सिर्फ फिलस्तीन से ही हिटलर को सहयोग मिला, अनवर सद्दात जो बाद में मिस्र के राष्ट्रपति भी बने उन्होंने 1945 में हिटलर की मौत के पहले खत लिखकर हिटलर को शुक्रिया अदा किया और भविष्य में जर्मनी के पुनरउदय की कामना की इसी तरह सीरियाई बाथ पार्टी के संस्थापक सामी अल जोंडी ने माईन कैम्फ का पहला अरब ट्रान्सलेशन कराया और बंटवाया।
हिटलर के दौर में मिडिल ईस्ट में गाये जाने वाले एक फेमस गीत की दो लाइने:
बिस्समा अल्लाह ओरिया अलार्ड हिटलर
(In heaven Allah, on Earth Hitler)

ओवैसी साहब या तो आप गाज़ा फिलिस्तीन पे रोना बन्द कर दीजिये या हिटलर को गाली देना

Advertisements
The opinions expressed within articles on "My Voice" are the personal opinions of respective authors. OpIndia.com is not responsible for the accuracy, completeness, suitability, or validity of any information or argument put forward in the articles. All information is provided on an as-is basis. OpIndia.com does not assume any responsibility or liability for the same.