Sunday, April 18, 2021

TOPIC

Peace in Kashmir

कश्मीरी पंडितों के बिना कश्मीरियत और जम्हूरियत दोनों अधूरी है

कश्मीरी अवाम ने विगत 17 महीनों में जिस शांति, सद्भाव, सहयोग, समझदारी, परिपक्वता एवं लोकतांत्रिक भागीदारी का परिचय दिया है, दरअसल उसे ही भारत के लोकप्रिय एवं यशस्वी प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटलबिहारी बाजपेयी ने कश्मीरियत, जम्हूरियत, इंसानियत का नाम दिया था और यह निर्विवाद एवं अटल-सत्य है कि कश्मीरी पंडितों एवं ग़ैर मज़हबी लोगों को साथ लिए बिना वह कश्मीरियत-जम्हूरियत-इंसानियत आधी-अधूरी है।

What’s the solution for Kashmir?

Kashmir issue is not something which can be resolved with peace and moreover establishing peace with Islamic countries is near to impossible. That's is why BJP is not at all interested in dialogues with Pakistan.

How twins became the twin stars of valley

The two young identical brothers namely Gowhar Bashir Bhat and Shakir Bashir Bhat made the entire valley pompous by Qualifying National Eligibility Entrance Test with effulgent tincture.

Latest News

Recently Popular