Wednesday, June 19, 2024

TOPIC

Indic Languages

भारतीय भाषाई विविधता पर हावी पश्चिमीकरण और हमारी दुर्बलता

संस्कृत विश्व की पुरातन भाषा है और वर्तमान की सभी भाषाओं की उत्पत्ति इसी भाषा से हुई है किन्तु आज यही संस्कृत भाषा विलोपित होती जा रही है। उससे भी बड़ी विडम्बना यह है कि हम स्वयं अपनी भाषागत परंपरा का पश्चिमीकरण कर रहे हैं। (by @omdwivedi93)

Structural linguistics: Murdering the spirit Indic languages

Post -Structuralism takes into account the dynamics of these symbols and presents a much more liberal approach, where as structuralist’s inflexibility, stubborn and adamant attitude has lead to destroyal of the spirit of Indic languages.

Latest News

Recently Popular