Not enough outrage

This new media called Social Media is not so different from its big brother MSM. If only your story falls in this outrage friendly scope; it’s a good news for you.

हिंदी भाषा का बढ़ता अंग्रेजीकरण

हिंदी भाषा मे बढ़ते प्रदूषण के लिए मीडिया से ज्यादा हम एक समाज के तौर जिम्मेदार है। न जाने कितनी बार हम हिंदी भाषा का मजाक बनते हुए देखते हैं परन्तु हमारे लिए यह सब अब ‘नार्मल’ हो चला हैं।

कैसी कैसी चाल चले केजरीवाल

केजरीवाल ने दिल्ली नगर निगम चुनावों से ठीक पहले जनता को फिर से अपनी चाल में फंसाने की कोशिश करते हुए यह लालच दी हैं कि अगर यह नगर निगम चुनावों में जीत गए तो दिल्ली में हाउस टैक्स को पूरी तरह ख़त्म कर देंगे.